Monday, August 03, 2020 05:53 PM

बिना विपक्ष चली सदन की कार्यवाही

प्रश्नकाल शुरू होने से पहले ही वाकआउट कर गए थे विरोधी दल

धर्मशाला - तपोवन में मंगलवार सुबह 11 बजे शीतकालीन सत्र की कार्यवाही शुरू हो गई। प्रश्नकाल शुरू होने से पहले ही विपक्ष वाकआउट कर चुका था। इसके बाद विपक्ष के बिना ही सदन की कार्यवाही चलाई गई। सदन शुरू होने पर प्रश्नकाल आयोजित किया गया। जिसमें तारांकित व अतारांकित प्रश्न पूछे व उनके जवाब सदन पटल पर रखे गए।  इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दस्तावेजों की एक-एक प्रति सभा पटल पर रखी, जिसमें हिमाचल प्रदेश संरचना बोर्ड अधिनियम 18वां वार्षिक प्रतिवेदन, कंपनी अधिनियम, 1956 की धारा 619 चार 20वां वार्षिक प्रतिवेदन और सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की तेरहवीं वार्षिक रिपोर्ट शामिल रही। इसके अलावा शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने  हिमाचल प्रदेश निजी शिक्षण संस्थान विनियामक आयोग अधिनियम, 2010 वार्षिक प्रतिवेदन की प्रति सभा पटल पर रखी। साथ ही सदन की समितियों के प्रतिवेदन भी प्रस्तुत किए गए, जिसमें लोक उपक्रम समिति के सभापति राकेश पठानिया प्रतिवेदनों की प्रति सभा पटल लेकर आए। कल्याण समिति के सभापति सुखराम ने समिति के प्रतिवेदनों की महत्त्वपूर्ण प्रतियां सभा पटल पर रखीं। मानव विकास समिति के सभापति बलबीर सिंह, सामान्य विकास समिति के सभापति हीरा लाल ने परिवहन विभाग, ग्रामीण नियोजन समिति के सभापति विक्रम जरियाल ने उद्यान विभाग से संबंधित प्रति सदन पटल पर रखी। नियम-62 के तहत ध्यानाकर्षण प्रस्ताव भी लाया जाना था, लेकिन हर्षवर्धन चौहान और मोहन लाल ब्राक्टा के सदन में गैरहाजिर होने पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव प्रस्तुत नहीं किए गए।