Tuesday, August 20, 2019 12:02 PM

बिन मुखियाओं के चल रहे स्कूल

- राज कुमार शर्मा, धर्मशाला

प्रदेश में पिछले कई महीनों से लगभग 300 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाएं व लगभग इतने ही हाई स्कूल बिना प्रधानाचार्य एवं हैडमास्टर के चल रहे हैं। एक ओर सरकार को स्कूल का वार्षिक परिणाम अच्छा चाहिए और दूसरी ओर इन पदों को भरने की ओर कतई ध्यान नहीं दिया जा रहा। इससे न तो स्कूलों का प्रशासन ठीक ढंग से चल पा रहा है और न ही विद्यार्थियों की पढ़ाई। एक कार्यकारी अध्यापक क्या विद्यालय चलाएगा, वह अपनी कक्षा देखेगा या स्कूल। यदि इन विद्यालयों में शीघ्र पदों को नहीं भरा जाता है, तो शिक्षा गुणवत्ता और संचालन के मामले में  ज्यादा अपेक्षा रखना भी सही नहीं होगा।