Monday, September 23, 2019 01:46 AM

बिलासपुर-कीरतपुर रोड बहाल

बिलासपुर - करीब तीन दिन बाद दिल्ली व चंडीगढ़ के लिए एनएच 205 पर वोल्वो सहित दूसरी बसें व ट्रकों की आवाजाही शुरू हो गई है। एनएच को दोबारा डबललेन करने का कार्य बुधवार देर शाम को पूरा होने के बाद गुरुवार सुबह से प्रशासन से वाहनों की आवाजाही शुरू की है। इससे पहले राज्य से बाहर जाने वाली बसों को वाया भोटा-ऊना रवाना किया जा रहा था। बहरहाल अब बिलासपुर-स्वारघाट-कीरतपुर रोड पर फिर से सभी तरह की बसों के चलने से यात्रियों ने राहत की सांस ली है। हालांकि एचआरटीसी बिलासपुर की अभी भी तीन बसें बारिश के बाद बंद हुए ग्रामीण रूटों पर फंसी है। आरएम बिलासपुर पवन कुमार शर्मा ने बताया कि निगम की एक बस लुहारड़ा व दो बसें ऋषिकेष में फंसी हुई हैं। वहीं, गुरुवार को भी 15 बस रूट प्रभावित रहने से निगम को करीब पांच लाख रुपए का घाटा हुआ है। बुधवार रात तक डिपो की सभी बसों को स्वारघाट की बजाय भोटा मार्ग से भेजा गया है। इसके चलते करीब डेढ़ सौ किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय कर बसें चंडीगढ़ पहुंचीं हैं। हालांकि गुरुवार को हालात सामान्य रहने से बस अड्डों के बुकिंग काउंटरों पर बीते कुछ दिनों की तुलना भीड़ कम देखी गई। हिमाचल पथ परिवहन निगम बिलासपुर को किराए के तौर पर चौथे दिन में पांच लाख रुपए का भारी नुकसान हुआ है। अब तक निगम को 35 लाख रुपए की चपत लग चुकी है। स्वारघाट रोड बंद रहने के दौरान बिलासपुर डिपो में रोजाना ऑन डिमांड पर स्पेशल बसें बाहरी राज्यों के लिए भेजी गई है। बता दें कि मूसलधार बारिश से हुए भूस्खलन के कारण गुरुवार को भी जिला में 10 सड़कें बंद रही। वहीं, सूचना है कि बिलासपुर-स्वारघाट रोड पर कुछ ऐसे प्वाइंटस चिन्हित किए गए हैं, जहां फिर से लैंडस्लाइड या पत्थर गिर सकते है। इसके बारे में लोक निमार्ण विभाग ने इस मार्ग पर वाहन चालकों को अलर्ट करते हुए जगह-जगह सूचना बोर्ड भी लगवा दिए हैं।