Sunday, July 12, 2020 03:45 PM

बिलासपुर के सात गांव कंटेनमंेट जोन में

शाहतलाई- झंडूता -जिला बिलासपुर के घुमारवीं व झंडूता क्षेत्रों में कोरोना के तीन मामले सामने आने के बाद प्रशासन ने कंटेनमंेट जोन बनाए हैं। इसके तहत घुमारवीं क्षेत्र का एक, जबकि झंडूता क्षेत्र के छह गांवों को कंटेनमंेट जोन में शामिल किया गया है। इन क्षेत्रों में किसी भी प्रकार की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक रहेगी और लोगों को जरूरत की वस्तुएं घरद्वार पर मिलेंगी। कंटेनमंेट जोन में आने वाले सातों गांवों को सील कर दिया गया है। इसके लिए एक कमेटी बनाई गई है जो लोगों को आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी करवाएगी। झंडूता क्षेत्र की पंचायत सुन्हाणी व घुमारवीं हलके के कोटलू ब्राहमणा व लैहड़ी सरेल क्षेत्रों से कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं। इसके बाद प्रशासन ने इन पंचायतों के अधीन आने वाले गांवों को कंटेनमंेट जोन में बांट दिया है। इसके तहत घुमारवीं के कोटलू ब्राहमणाा गांव, जबकि झंडूता क्षेत्र के डूहक-डोरियां, मन्नण, मूरथल, बल्ह, मौहीं और सरगल गांवों को कंटेनमंेट जोन में शामिल किया है। उकोटलू ब्राहमणा पंचायत का निवासी 16 मई को मुंबई से अपने घर आया था जो कि सरकारी स्कूल कोटलू में क्वांरनटाईन था जबकि सुन्हाणी पंचायत का निवासी 10 मई दिल्ली से आया था जो कि होम क्वांरनटाईन था। वहीं दूसरी तरफ  झंडूता के उपमंडलाधिकारी एवं तहसीलदार मुलतान सिंह बनियाल तथा विकास खंड अधिकारी अनमोल ने सुन्हाणी पंचायत में कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद संबंधित क्षेत्रों का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क मंे आने वालों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। कांटेक्ट ट्रेसिंग के बाद संपर्क मंे आए सभी लोगों को आईसोलेट किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सरगल, मौंही, डूहक डोरियां, कोटलू, मूरथल और बल्ह गांवों को कंटेनमैंट जोन घोषित कर दिया। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वह घर में रहकर सुरक्षित रहें तथा उन्होंने लोगों से स्वास्थ्य विभाग, पुलिस कर्मचारी और पंचायत प्रतिनिधि का हर कार्य में सहयोग की अपील की है। उधर, घुमारवीं के एसडीएम शशिपाल शर्मा ने बताया कि घुमारवीं क्षेत्र मंे कोटलू ब्राहम्णा गांव आता है जहां से केस आया है। इस पर इस गांव को कंटेनमंेट जोन घोषित किया है।