Tuesday, June 02, 2020 11:53 AM

बिलासपुर में कोरोना को धो डाला

बिलासपुर - कोविड-19 कोरोना वायरस के खतरे के बीच लगाए गए लॉकडाउन के दौरान बिलासपुर शहर को साफ-सुथरा व सेनेटाइज करने में नगर परिषद अहम भूमिका निभा रही है। इस दौरान नगर परिषद के सफाई कर्मचारी लगातार अपनी सेवाएं दे रहे हैं। शहर को साफ व सेनेटाइज करने के साथ-साथ सफाई कर्मचारी जिला प्रशासन द्वारा जगह-जगह बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों को भी रोजाना साफ कर रहे हैं। खास बात यह है कि पिछले तकरीबन दो माह से नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों ने आपातकालीन स्थिति के अलावा कोई छुट्टी नहीं की है। साथ ही नगर परिषद ने शहर को सेनेटाइज करने में लगी सामाजिक संस्थाओं को भी हाइपो क्लोराइड आदि सामग्री उपलब्ध करवाई है। नगर परिषद बिलासपुर के करीब 18 से 20 सफाई कर्मचारी शहर के 11 वार्डों में सफाई व सैनेटाइजेशन का कार्य कर रहे हैं। जबकि, 6 से 8 कर्मचारी शहर में लोगों के घरों से कूड़ा उठाने में लगे हुए हैं। इन सभी कर्मचारियों को नगर परिषद द्वारा लगातार मास्क, ग्लब्ज व सैनेटाइज आदि उपलब्ध करवाया जा रहा है। शहर की गलियों में सफाई व्यवस्था को सही तरीके से चलाने तथा संक्रमित बीमारियों से बचाने के लिए सफाई कर्मचारी मोर्चा संभाले हुए हैं। वहीं, जिला प्रशासन द्वारा ब्वायॅज स्कूल, जवाहर नवोदय विद्यालय कोठीपुरा व चांदपुर आदि में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में भी सफाई कर्मचारी साफ-सफाई कर रहे हैं।  इसके अलावा अग्निशमन विभाग सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं को भी नगर परिषद द्वारा हाइपो क्लोराइड आदि उपलब्ध करवाया जा रहा है। साथ ही शहर में लगी स्ट्रीट लाइटों को भी दुरूस्त कर दिया गया है। वहीं, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद बिलासपुर उर्वशी वालिया ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान नगर परिषद के सफाई कर्मचारी शहर को साफ-सुथरा व सेनेटाइज करने का कार्य कर रहे हैं। आपातकालीन स्थिति के अलावा किसी भी सफाई कर्मचारी ने कोई छुट्टी नहीं की है। इन कर्मचारियों द्वारा शहर को साफ व सैनेटाइज करने के साथ-साथ क्वारंटाइन सेंटर भी साफ किए जा रहे हैं। नगर परिषद द्वारा शहर को सैनेटाइज करने में लगी सामाजिक संस्थाओं को भी हाइपो क्लोराइड आदि सामग्री उपलब्ध करवाई गई है।