Wednesday, July 08, 2020 02:10 PM

बिलासपुर में तीन नए केस

बिलासपुर-वैश्विक महामारी कोरोना ने सोमवार को एक साथ तीन मामले सामने आने के बाद बिलासपुर के लिए भी मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। इनमें दो व्यक्ति घुमारवीं और तीसरा झंडूता विधानसभा क्षेत्र से ताल्लुक रखता है। इनकी ट्रेवल हिस्ट्री महाराष्ट्र और दिल्ली से जुड़ी हुई है। इन तीनों का इलाज शिवा आयुर्वेद कालेज चांदपुर में बनाए गए कोविड-19 केयर सेंटर में होगा। इससे पहले एक मामला नयनादेवी हलके का आया था लेकिन वह इंस्टीच्यूशनल क्वारंटाइन था। ऐसे में जिला बिलासपुर में कोरोना पीडि़तों का आंकड़ा 11 तक पहुंच गया है जिनमें से चार पीडि़त स्वस्थ हो चुके हैं। यहां बता दें कि जिला बिलासपुर में पहला मामला नयनादेवी क्षेत्र के दबट से आया था, जबकि सोमवार को एकसाथ तीन मामले सामने आए हैं। बिलासपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाशचंद दरोच ने बताया कि आईजीएमसी शिमला से सोमवार शाम आई रिपोर्ट में यह लोग पॉजिटिव पाए गए। इनमें से दो मुंबई और एक दिल्ली से आया था। उन्होंने बताया कि 2 को इंस्टिच्यूशनल, जबकि एक को होम क्वारंटाइन किया गया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब उन्हें चांदपुर स्थित शिवा कालेज में बनाए गए कोविड-19 केयर सेंटर में शिफ्ट करने की तैयारी है। इन नए मामलों के साथ जिला में कोरोना पॉजिटिव का कुल आंकड़ा 11 हो गया है। इनमें से 4 कोरोना की जंग जीत भी चुके हैं। बाहरी राज्यों से आने वाले हिमाचल के लोगों के सैंपल कोरोना जांच के लिए नियमित रूप से जांच के लिए शिमला भेजे जा रहे हैं। इसी कड़ी में सोमवार शाम आई रिपोर्ट में तीन लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से दो लोग गत 16 व 18 मई को मुंबई से आए थे, जिन्हें जेएनवी कोठीपुरा और कोटलू ब्राह्मणा स्कूल में इंस्टिच्यूशनल क्वारंटाइन किया गया था। वहीं, दिल्ली से गत दस मई को आए एक व्यक्ति को सुन्हाणी के डूहक में होम क्वारंटाइन में रखा गया था। उधर, बिलासपुर के डीसी राजेश्वर गोयल ने बताया कि तीनों लोगों को चांदपुर में कोविड-19 केयर सेंटर में शिफ्ट किया जा रहा है।