Friday, December 06, 2019 09:56 PM

बिलासपुर में साढ़े 27 करोड़ से बनेगा इंडोर ऑडिटोरियम

 गर्ल्ज स्कूल के पास शुरू हुआ निर्माण कार्य; टेंडर प्रक्रिया पूरी-अलॉट हुआ काम, जिला भाषा अधिकारी नीलम चंदेल ने किया खुलासा

बिलासपुर रंगमंच से जुड़े कलाकारों को बिलासपुर में बेहतरीन मंच मिलेगा। गर्ल्ज स्कूल बिलासपुर के समीप भव्य इंडोर ऑडिटोरियम बनने जा रहा है। करीब 27.61 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस इंडोर ऑडिटोरियम की टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही इसका काम भी अलॉट हो गया है। भाषा एवं संस्कृति विभाग बिलासपुर की जिला भाषा अधिकारी नीलम चंदेल ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि गर्ल्ज स्कूल बिलासपुर के समीप बनने जा रहे इसे इंडोर ऑडिटोरियम का पहले चरण का निमार्ण कार्य भी शुरू हो गया है। इस पर व्यय होने वाली कुल राशि में से 11 करोड़ रुपए विभाग के पास आ चुके है। नीलम चंदेल ने बताया कि बिलासपुर में बनने वाले इस इंडोर ऑडिटोरियम में 500 से 800 दर्शकों के लिए प्रेक्षागृह व स्वागत कक्ष सहित एक बड़ा हॉल होगा, इसमें प्रदर्शनी व सेमीनार, लद्यु संग्रहालय, लेखक गृह होगा। साथ ही महिला तथा पुरुष कलाकारों के लिए 30-30 बिस्तर की दो डॉरमेटरीज, कैंटीन, पुस्तकालय, चौकीदार आवास आदि बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकार ने प्रदेश के लगभग सभी जिलों में ऑडिटोरियम बनाने का निर्णय लिया है, जिसके तहत बिलासपुर को यह सौगात मिली है। हालांकि कुल्लू, सोलन, मंडी और ऊना जिलों में ऑडिटोरियम निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। ऐसे में गेयटी की तर्ज पर अब बिलासपुर में बनने जा रहे भव्य ऑडोटोरियम में भी रंगमंच गतिविधियों को निखारने में काफी सुविधा मिलेगी। बता दें कि सरकार द्वारा इन ऑडिटोरियमों को बनाने के लिए 2016-17 के विभागीय बजट में इंडोर ऑडिटोरियम के निर्माण के लिए सिर्फ  निर्धारित किए गए बजट को दोबारा बढ़ाया गया है। ऑडिटोरियम बनने से रंगमंच की गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। यहां नाटकों का बेहतरीन मंचन हो पाएगा। इसके अलावा नाटक उत्सवों को भी आयोजन हो सकेगा। बता दें कि गर्ल्ज स्कूल के समीप चयनित इस मैदान को अबतक मेलों के दौरान पार्किंग के रूप में ही इस्तेमाल किया जा रहा है। अब जाकर यहां निमार्ण कार्य शुरू होने से कलाकारों को नई दशा मिलेगी। बहरहाल शिमला स्थित गेयटी थियेटर की तर्ज पर अब बिलासपुर जिला में भी भव्य ऑडिटोरियम की सुविधा मिलेगी। बिलासपुर का रंगमंच अब एक बार फिर से अपनी कला की धमक दिखाएगा। यह इंडोर ऑडिटोरियम कुछ माह के भीतर तैयार होकर रंगकर्मियों के लिए शुरू हो जाएगा।