बुमराह-शमी के कमाल के बाद मयंक-शॉ का शानदार आगाज़

हेमिल्टन -तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की अगवाई में भारतीय गेंदबाजों ने अभ्यास मैच में न्यूजीलैंड एकादश को दूसरे दिन शनिवार को 263 पर सिमेट दिया और टेस्ट सीरीज से पहले मेजबान टीम के लिए खतरे की घंटे बजा दी। भारत की ओर से शमी ने दस ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट, जसप्रीत बुमराह ने 18 रन, उमेश यादव ने 49 रन और नवदीप सैनी ने 58 रन देकर दो-दो विकेट झटके, जबकि ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को 46 रन पर एक विकेट मिला। रविंद्र जडेजा को हालांकि 25 रन देकर कोई विकेट हासिल नहीं हुआ। इससे पहले भारत ने पहली पारी में 263 पर ऑलआउट होने के बाद न्यूजीलैंड को गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के दम पर सस्ते में समेट दिया और 28 रन की मामूली बढ़त हासिल कर ली। न्यूजीलैंड की ओर से हेनरी कूपर ने 68 गेंदों में छह चौकों की मदद से सर्वाधिक 40 रन बनाए। न्यूजीलैंड की पारी में कप्तान डेरिल मिशेल ने 32 रन, ब्रूस ने 31, एलेन ने 20, ईश सोढी ने 14 और विकेटकीपर बल्लेबाज डेन क्लीवर ने 13 रन बनाए, जबकि स्कॉट कुगेलजिन 11 रन बनाकर नाबाद रहे। दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने पृथ्वी शॉ नाबाद 35 और मयंक अग्रवाल नाबाद 23 की पारी की बदौलत बिना विकेट खोए 59 रन बना लिए और 87 रन की बढ़त हासिल कर ली।

सिर्फ दो-चार मैच बाद ही बुमराह पर सवाल कैसे

हैमिल्टन। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल सीरीज में जसप्रीत बुमराह कोई विकेट नहीं ले पाए। इसके बाद सवाल उठने लगे कि क्या चोट से वापस करने के बाद बुमराह की लय कहीं खो गई है। हालांकि टीम इंडिया के उनके साथी गेंदबाज मोहम्मद शमी इस बात से इत्तेफाक नहीं रखते। शमी ने कहा, सिर्फ एक-दो मैचों में अलग प्रदर्शन के बाद लोग जसप्रीत बुमराह के कई अनगित मैच, जिताऊ खेल को कैसे भूल सकते हैं। शमी ने कहा, मैं समझ सकता अगर लोग कुछ अरसा गुजर जाने के बाद लोग इस पर चर्चा करते, लेकिन 2-4 मैच बाद नहीं। सिर्फ इसलिए कि उन्होंने दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। आप मैच जिताने की उनकी काबिलीयत पर सवाल नहीं कर सकते।

Related Stories: