Friday, October 18, 2019 12:34 PM

बेजुबान का सहारा बना जनहित मोर्चा

संतोषगढ़-टाहलीवाल मार्ग पर नए पेट्रोल पंप के पास घायल बैल को प्रतिदिन आते जाते हजारों लोगो ने देखा होगा। आने जाने वाले राहगीरों के मन में एक बार ये विचार तो आता है कि इस बेसहारा बैल का इलाज होना चाहिए परंतु जिंदगी की इस भागदौड़ में इतना समय कोई ही निकाल पाता है। जैसे ही इस घायल बैल की भनक जनहित मोर्चा संतोषगढ़ के पदाधिकारियों एवं समाजसेवी सुरिंद्र रत्रा सहित नगर संतोषगढ़ के पशु चिकित्सा डा. अमित एवं उनकी टीम को लगी तो उन्होंने इस बैल के उपचार के लिए तुरंत प्रयास शुरू कर दिए। शनिवार को जनहित मोर्चा संतोषगढ़ और समाजसेवी सुरिंद्र रत्रा के प्रयास रंग लाए। इस घायल बैल के बारे उपायुक्त ऊना को भी अवगत कराया गया। उपायुक्त ऊना संदीप कुमार के आदेश पर चंद घंटों में बैल का उपचार करने के लिए टीम मौके पर पहुंच गई। पशु चिकित्सा डा. अमित ने बताया कि जैसे ही उन्होंने फेसबुक पर घायल बैल की पोस्ट पड़ी तो तुरंत इसके उपचार के लिए उक्त पेट्रोल पंप के पास जा पहुंचे। उन्होंने बताया कि बैल को काबू एवं बेहोश करने के लिए ट्रैंक्विलाइजर गन का इस्तेमाल होता है, लेकिन उनकी टीम ने बिना समय गंवाए अपनी जान की परवाह न करते हुए घायल बैल को खुद हाथ से इंजेक्शन देकर काबू करने के बाद उसका इलाज किया। और उसके बाद समस्या यह उत्पन्न हो गई कि इसे इलाज के दौरान सुरक्षित कहां रखा जाए। स्थानीय गोशाला के पदाधिकारियों ने इसे गोशाला में लेने से इनकार कर दिया। उसके बाद संतोषगढ़ के पशु चिकित्सक अमित शर्मा के प्रयास से उपचाराधीन बैल को गोशाला बसोली पहुंचाया गया। नगर पंचायत टाहलीवाल की अध्यक्ष सुनीता देवी के सहयोग से बैल को बसोली पहुंचाया गया। इस मौके पर पशु चिकित्सक संतोषगढ़ अमित शर्मा, ललड़ी पोलीक्लीनिक की डाक्टर मोनिका, दविंदर कुमार, तरसेम लाल, सोहन लाल, समाजसेवी सुरिंद्र रत्रा,जनहित मोर्चा संतोषगढ़ के चेयरमैन डाक्टर गुलशन शर्मा, केसी राणा, जसवंत सिंह, धर्मपाल कैंथ व गणपति गौतम मौजूद रहे।