Wednesday, December 11, 2019 05:41 PM

बेनामी संपत्ति के विरुद्ध कानून बने

- भूपेंद्र ठाकुर, जोगिंद्रनगर, मंडी

देश में काला धन संग्रह करने एवं संपत्तियों को इकट्ठा करने की होड़ मची हुई है। जब तक बेनामी संपत्ति के विरुद्ध ठोस कानून नहीं बनता, तब तक यह सिलसिला बदस्तूर जारी रहेगा। अधिकतर लोगों की आमदनी का कोई जरिया नहीं है, परंतु वे भी अरबों के मालिक बन चुके हैं। इसके पीछे बड़ी खामियां बैंकिंग प्रणाली की भी हैं, जिससे लोग बैंक से ऋण का बहाना लगाकर बच निकलते हैं। हमारी कर प्रणाली भी दोषपूर्ण है, क्योंकि कृषि पर कोई कर नहीं लगता है, जिससे जिन लोगों ने कभी खेत की शक्ल तक नहीं देखी, वे लोग भी कृषि आय दिखाकर बच निकलते हैं। इसके समाधान के लिए सभी लोगों की संपत्ति को आधार से लिंक किया जाना चाहिए।