Friday, September 20, 2019 12:35 AM

बेरहम बरसात ने मौत की नींद सुलाए तीन

कुल्लू - बरसात ने कुल्लू में तीन लोगों को मौत की नींद सुला दिया है। रौद्र रूप धारण कर शनिवार और रविवार को जिला में आई बरसात तीन परिवारों को जिंदगी भर के जख्म दे गई। बता दें कि बंजार के जिभी में सजवाड़ नाले में आई बाढ़ से यहां कैफे चलाने वाला संचालक चुनी लाल खड्ड में बह गया। हालांकि उसे ढूंढने के लिए दिनभर रेस्कयू आपरेशन चला, लेकिन उसका अता-पता ही नहीं चल पाया। मणिकर्ण-बरशैणी मार्ग पर तेगड़ीनाला के पास भू-स्खलन की जद में एक पर्यटक आया और उसकी मौत हो गई है। घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए सीएचसी जरी लाया गया, जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। इसकी पहचान राघव (22) आंध्र प्रदेश की मौत हो गई है। यह पर्यटक बरशैणी से अपने दोस्त के साथ लौट रहा था। तेगड़ीनाला के पास भू-स्खलन हो रहा था। इस दौरान वह सड़क पत्थर हटाने गया, तो ऊपर से फिर मलबा आया और उस पर गिरा और घायल हो गया। ऐसे में उसके दोस्त और अन्य लोगों ने उपचार के लिए जरी अस्पताल लाया, जहां उसकी मौत हो गई। वहीं, पर्यटन नगरी मनाली के पांडूरोपा में घोड़े चरा रहे मंडी जिला के कंडालू गुम्मा निवासी होशियार सिंह (38) की मौत भारी बारिश से हुई है। इस दौरान उसके साथ भूप सिंह व रोहित भी थे। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम भी मौके के लिए गई और तीनों को रेस्क्यू कर मनाली अस्पताल लाया। इस दौरान उक्त व्यक्ति की मौत हो गई।

16 मकान जमींदोज; चंडीगढ़-मनाली एनएच समेत 70 से ज्यादा सड़कें ठप

कुल्लू के नुकसान की बात करें तो भारी बारिश से करोड़ों की चपत लगी है। बेरहम बरसात से 16 मकान जमींदोज हो गए हैं, जबकि 70 से अधिक सड़कें अवरुद्ध हैं। एचआरटीसी के करीब 64 के करीब रूट्स प्रभावित हुए हैं। मनाली-चंडीगढ़ एनएच-21 और एनएच-305 के साथ जिला की ग्रामीण इलाकों में भारी भू-स्खलन होने से डंगे ही नहीं, अपितु सड़कें भी नदी-नालों में बह गई है। ब्यास-पार्वती नदी के साथ-साथ अन्य नदी-नाले भी उफान पर हैं। अखाड़ा बजार में ब्यास नदी में आई बाढ़ ने वैली ब्रिज को भी डैमेज कर दिया है। वैली ब्रिज के एक मुहाने की सड़क पूरी तरह से ब्यास में बह गई है। वहीं, पतलीकूहल में सब्जी मंडी का कुछ हिस्सा भी बह गया और मंडी जलमग्न हो गई है। इसके साथ-साथ 16 मील, 18 मील में सड़कें ध्वस्त हो गई हैं। छरूहड़ सड़क ध्वस्त हो गई है। इसके अलावा सैंज में भी एक पुल, चार घराट बह गए। एचआरटीसी की वर्कशाप में भी पानी घुसा, जिससे कुछ सामान नदी में बह गया है।

......मौसम खुलते ही बहाली में जुटे जवान

उपायुक्त कुल्लू डा. ऋचा वर्मा ने बताया कि कुल्लू जिला में शुक्रवार रात्रि से रविवार तक लगातार भारी बारिश के कारण सड़कों, पुलों व आवासीय परिसरों को काफी नुकसान पहुंचा है। वहीं, लोगों की मृत्यु भी हो गई है। उपायुक्त ने बताया कि अधिकारियों को नुकसान का जायजा लेने के लिए मौके के लिए रवाना किया है। मौसम के मिजाज को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट है। मौसम खुलने के बाद सड़क बहाली का कार्य शुरू कर दिया गया है।