Tuesday, June 02, 2020 11:03 AM

ब्लैक फ्राईडे… कोरोना से हमीरपुर में हड़कंप

जिला भर में 14 केस आने से लोग हैरान; खाली होेने लगे बाजार, कोरोना संक्रमण बढ़ने से लोगों में खौफ

हमीरपुर-दो दिन में जिला भर में सामने आए रिकार्डतोड़ 45 कोरोना पॉजिटिव मामलों से लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया है। पहले दिन यानी गुरुवार को 31 मामले सामने आए। जबकि शुक्रवार को 14 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए। अचानक बढे़ कोरोना संक्रमण के मामलों से हरेक जिलावासी हैरान है। भले ही प्रशासन द्वारा दुकान खोलने का समय आठ से चार बजे तक कर दिया गया हो लेकिन कई दुकानदार जल्दी ही अपनी दुकाने बंद कर रहे हैं। इसी बात को मध्य नजर रखते हुए व्यापार मंडल हमीरपुर ने बीते गुरुवार को एक आपात बैठक बुलाई, जिसमें निर्णय लिया गया कि अगर समय से पहले ही दुकानदार दुकानें बंद करना चाहते हैं तो समय में बदलाव कर दिया जाएगा। आगामी एक या दो दिनों में व्यापार मंडल दुकानें खोलने का समय नौ बजे से लेकर दो बजे तक तय कर सकता है। हालांकि इस पर अभी विचार चल रहा है। बता दें कि हमीरपुर में अचानक करोना संक्रमित 45 लोग सामने आए हैं जिससे हरेक जिलावासी हैरान है। यही कारण है कि लोग बाजारों का रुख कम कर रहे हैं। बाजार में कम हो रही लोगों की आवाजाही से दुकानदारों का व्यापार भी ठप हो गया है। इसी के चलते कई दुकानदार दो से तीन बजे के भीतर अपनी दुकानें बंद कर घर जा रहे हैं। हालांकि दुकान खोलने का समय आठ बजे सुबह से लेकर चार बजे शाम निर्धारित किया गया है। वहीं, व्यापार मंडल हमीरपुर ने भी अपने स्तर पर ही दुकाने खोलने का समय निर्धारित करने का निर्णय लिया है। जिला प्रशासन ने दुकानें खोलने का समय आठ से चार बजे तक निर्धारित किया था लेकिन व्यापार मंडल इसे अपने स्तर पर इसे नौ से लेकर दो बजे तक कर सकता है। वास्तविक का आकलन करते हुए बुलाई गई व्यापार मंडल हमीरपुर की आपात बैठक में दुकानें खोलने के समय को अपने स्तर पर कम करने का फैसला लिया गया है। हालांकि इस पर अंतिम निर्णय एक या दो दिन में हो सकता है।  वहीं, वरिष्ठ उपाध्यक्ष व्यापार मंडल हमीरपुर अश्विनी जगोता ने कहा कि दुकानदार जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित समय से पहले ही अपनी दुकानें बंद कर रहे हैं। कारण साफ है कि कोरोना संक्त्रमण के बढ़ रहे मामलों के कारण ग्राहकों की बाजार में आवाजाही कम हो गई है। इस कारण व्यापार प्रभावित हो रहा है जिसके चलते दुकानें खोलने के समय में कमी किए जाने पर विचार हो रहा है। एक या दो दिन में निर्णय हो जाएगा।