Tuesday, September 17, 2019 02:03 PM

भांग मलते-मलते झाडि़यों में सो गया मजदूर

टौणीदेवी बाजार में सोमवार रात का वाकया; नशा मुक्ति-सफाई के दावे हवा, कई जगहों पर लगे कूड़े के ढेर

टौणीदेवी -नशा मुक्ति व सफाई के दावे मात्र हवा मंे ही लहलहाते दिख रहे है तथा धरातल पर स्थिति कुछ और ही हंै। टौणीदेवी में जगह-जगह पर भांग के पौधे लहलहा रहे है तथा चारों ओर गदंगी का आलम है, लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं है। सरकार ने पहले भांग उखाड़ो अभियान शुरू किया। इसमें पुलिस के साथ ही पंचायतों व स्वयंसेवी संगठनांे ने भाग लिया, लेकिन यह दावे अब हवा हवाई दिख रहे है। टौणीदेवी बाजार के ऊहल चौक व अन्य स्थानों पर भांग की खेती लहलहा रही है। हर कोई इससे परिचित भी है, लेकिन इस उखाड़ने का दम कोई नहीं भर रहा। स्थानीय युवा व प्रवासी मजदूर यहां पर भांग मलते हुए नजर आते हैं। सोमवार रात को नशे में एक प्रवासी मजदूर भांग के पौधों पर ही सोया रहा और मंगलवार सुबह ही उसकी आंख खुली। गनीमत यह रही कि उसे किसी जहरीले जीव ने नहीं काटा और न ही ढांक से गिरा, अन्यथा कोई हादसा हो सकता था। प्रवासी मजदूर को सुबह देखकर हर कोई हैरान रह गया। टौणीदेवी के कई और स्थानों पर भी भांग खूब लहलहा रही है। पुलिस व स्थानीय पंचायत के प्रयास भी अभी तक कोई रंग नहीं ला सके है, जिससे नशेडियों की पौ बारह हो रही है। इसी तरह से टौणीदेवी बाजार के कई स्थानों पर प्लास्टिक व कूड़े के ढेर लगे हुए हैं, लेकिन इस दिशा में प्रशासन व स्थानीय पंचायतों कुछ नहीं कर पाई है। जिससे टौणी देवी की सुदंरता को भी ग्रहण लगा हुआ है। स्थानीय लोगों भांग उखाड़़ने के साथ ही सफाई पर ध्यान देने की मांग की है। वहीं्र, पुलिस उपअधीक्षक हितेश लखनपाल का कहना है कि अगर भांग के पौधे हंै तो इन्हें नष्ट करने के स्थानीय पुलिस को निर्देश दिए जाएंगे।