Wednesday, August 21, 2019 05:05 AM

भुंतर-बजौरा में ईद पर अता की नमाज

मस्जिदों में दिन भर रही रौनक, गले लगाकर ईद पर बांटी खुशियां

भुंतर -मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा जिला कुल्लू के भुंतर सहित अन्य स्थानों पर ईद-उल-जुहा का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर समुदाय के लोगों ने एक-दूसरे को गले मिलकर आपसी भाईचारे का संदेश दिया तो साथ ही नमाज भी अता की। यहां पर जीया, बजौरा सहित अन्य स्थानों पर स्थित मस्जिदों में सुबह से ही रौनक देखने को मिली। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद से अमन के नए माहौल के बीच भुंतर और आसपास के क्षेत्रों में रह रहे कश्मीरी मुस्लिमों ने भी ईद के पावन मौके पर जश्न मनाया और एक-दूसरे को ईद की बधाई दी। समुदाय के लोगों ने बताया कि ईद मुस्लिम समुदाय का धार्मिक त्योहार है जिसे सभी मिलकर बड़े ही प्यार से मनाते हैं। विश्व भर में शांति और अमन चैन रहे इसके लिए अल्लाह सेे दुआएं करते हैं। कुल्लू में भी ईद का त्योहार बड़े हर्षोल्लास से मनाया गया। मुस्लिम समुदाय के प्रतिनिधियों के अनुसार ईद-उल-जुहा हजरत अब्राहिम अलैहिस्लाम की याद में मनाई जाती है। इस ईद-उल-जुहा को ‘बकरीद’ भी कहा जाता है।  कुल्लू घाटी की तमाम मस्जिद में भी ईद-उल-जुहा बड़ी श्रद्धा पूर्वक मनाई गई। अखाड़ा बाजार स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद, जगतसुख, जीया, बजौरा और नगवाई की मस्जिदों में मुस्लिम भाइओं नें ईद की नमाज अदा की।  जीया मस्जिद में जाकर कुरान सरीफ की आयतें पढ़ सजदा कर नमाज अदा की और सभी ने एक दूसरे को गले लगाकर ईद की मुबारकबाद दी। देश भर में हिंदु समाज के विभिन्न त्योहार हर्षोल्लास से मनाए जाते हैं तो उसी की भांति इस्लाम धर्म में ईद का त्योहार बड़ी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। बहरहाल, सोमवार को भी मस्जिदों में खूब चहल-पहल देखने को मिली।