Tuesday, March 31, 2020 01:58 PM

मंडी की आरजू सेना में लेफ्टिनेंट

चेन्नई में छह लड़कों के साथ अकेली युवती ने हासिल किया मुकाम

मंडी-मंडी जिला की एक और बेटी ने प्रदेश का सिर गौरव से ऊंचा कर दिया है। मंडी की आरजू ठाकुर 22 वर्ष की आयु में सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं। विशेष यह भी है कि चेन्नई में हुई पासिंग परेड में हिमाचल प्रदेश से सात युवाओं को लेफ्टिनेंट बनने का गौरव मिला है। इनमें से आरजू ठाकुर हिमाचल से अकेली युवती हैं, जिसने लेफ्टिनेंट का रैंक प्राप्त किया है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से ठीक एक दिन पहले चेन्नई में सात मार्च को हुई पासिंग परेड में आरजू को ओहदा मिला है। आरजू ठाकुर जिला के गांव छलखी डा. दयारगी से संबंध रखती हैं। उनकी इस उपलब्धि के बाद पूरे परिवार, परिजनों और गांव में खुशी का माहौल है। सैन्य प्रशिक्षण अकादमी चेन्नई में हुई पासिंग आउट परेड में 145 लड़कों और 33 लड़कियों ने भारतीय सेना में कमीशन प्राप्त किया, जिसमें हिमाचल के छह लड़के और एक लड़की आरजू ठाकुर भारतीय सेना मेें परमानेंट कमीशन प्राप्त करने का गौरव रचा है। आरजू के पिता रिटायर्ड कैप्टन राजेश्वर ठाकुर और चाचा सुबेदार मेजर विजय ठाकुर भी सेना में कार्यरत हैं। आरजू की माता अंजना ठाकुर सरकारी स्कूल में विज्ञान अध्यापिका हैं। छोटी बहन पंजाब से डाक्टरी की पढ़ाई कर रही हैं तथा छोटा भाई दसवीं कक्षा में पढ़ता है।