Tuesday, November 30, 2021 09:12 AM

मंडी के होनहार की हौसलों की उड़ान

दुनिया के सबसे ऊंचे सड़क से जुड़े दर्रे तक साइकिल से पहुंचे शिव तुषार

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — मंडी युवामन साहस और रोमांच से जुड़ी गतिविधियों में शामिल होने के लिए सदैव लालयित रहता है और मौका मिलते ही अपनी शारीरिक एवं मानसिक मजबूती को परखने के लिए निकल पड़ते हैं। मंडी शहर के पुरानी मंडी निवासी शिव तुषार पुत्र गगन प्रदीप शर्मा जो साईंस इंजिनियर हैं ने हाल ही में मंडी से खरदुंगला तक की कठिन और जोखिमपूर्ण यात्रा साईकिल से तय की है। खरदुंगला दर्रा जो दुनिया का सबसे ऊंचा सडक़ से जुड़ा दर्रा है। जिसकी समुद्र तल से ऊंचाई 5359 मीटर है। बेहद खराब मौसम और कदम दर कदम चुनौतियों का सामना करते हुए यह साहसी युवा अपनी साइकिल पर कई अवरोधों को पार करते हुए यहां तक पहुंचा है।

शिव तुषार जो मंडी शहर के पुरानी मुहल्ला निवासी सेवा निवृत बैंक अधिकारी गगन प्रदीप शर्मा और माता अर्चना शर्मा के बेटे हैं। उन्होंने बताया कि उनकी यह यात्रा करीब एक साल की तैयारियों के बाद ही शुरू हो पाई है। इससे पूर्व उन्होंने एक साल तक कड़ा अभ्यास और साईकिलिंग से जुड़े विभिन्न पहलुओं का अध्ययन करने के बाद 30 अगस्त 2021 को मंडी से खरदुंगला तक की अपनी यह यात्रा शुरू की। यहां तक पहुंचने के लिए उन्हें 4850 मीटर ऊंचे बारालाचा, 4750 मीटर ऊंचे नाकिला, 5065 मीटर ऊंचे लाचुंला, 5328 मीटर ऊंचे तंगलागंला दर्रे जो दुनिया का तीसरा सबसे ऊंचा दर्रा है को पार कर अंत में 5359 मीटर ऊंचे दर्रे तक पहुंचने में कामयाबी हासिल की है। शिव ने बताया कि वह यात्रा अनुभवों को लेकर किताब भी लिखेंगे, ताकि युवाओं को उससे प्रेरणा मिल सके।