Wednesday, July 17, 2019 07:57 PM

मंडी में एबीवीपी ने जाम किया एनएच

मंडी—बंजार हादसे के बाद ओवरलोडिंग पर सख्ती से परेशान छात्रों ने गुरुवार दोपहर नेशनल हाई-वे जाम कर दिया। इस कारण काफी लंबा जाम लग गया। एबीवीपी से जुड़े वल्लभ कालेज मंडी के छात्र दोपहर डेढ़ बजे के करीब मंडी बस स्टैंड के बाहर किरतपुर-मनाली नेशनल हाई-वे के बाहर धरने पर बैठ गए। छात्रों का कहना था कि आठ-दस किलोमीटर दूर से आने वाले छात्रों के लिए ओवरलोडिंग के चलते बसें ही नहीं रोकी जा रही हैं। ऐसे में छात्रों को परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। उधर, नेशनल हाई-वे जाम करने की सूचना मिलते ही पुलिस के भी हाथ पांव फूल गए। एएसपी पुनीत रघु, एसएचओ सदर विनोद ठाकुर सहित क्यूआरटी के जवान भी मौके पर पहुंचे और छात्रों को समझा-बुझाकर नेशनल हाई-वे से हटाया गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद वल्लभ कालेज इकाई ने बसों की समस्या को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। गुरुवार को एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने मंडी बस अड्डा के बाहर मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर चक्का जाम कर दिया। करीब 20 मिनट तक चक्का जाम किया गया। इस दौरान प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। विद्यार्थियों के लिए जल्द बस सुविधा उपलब्ध न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। एनएच पर चक्का जाम होने से वाहनों की रफ्तार पूरी तरह थम गई। दोनों तरफ  से वाहनों की कतारें लग गइर्ं। इससे यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ी। एबीवीपी के कार्यालय मंत्री अबू गोयल ने बताया कि बसों में ओवरलोडिंग पर रोक के बाद स्कूल व कालेज के विद्यार्थियों को बस सेवा उपलब्ध नहीं हो पा रही है। उन्हें स्कूल व कालेज पहुंचने में दिक्कत हो रही है। यही नहीं शाम को घर वापस जाने के लिए भी बसें नहीं मिलतीं। इससे परेशानियां झेलनी पड़ रही हैं। विशेषकर कुछ छात्राएं दूरदराज के क्षेत्रों से कालेज आती हैं और बस में न बिठाने पर शाम को देरी से घर पहुंच रही हैं। इससे अभिभावकों की भी चिंता बढ़ गई है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि स्कूल व कालेज के विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त बसें चलाई जाएं। अगर बसों की पूर्ति जल्द नहीं की गई, तो विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन शुरू करेगी। परिवहन विभाग के अधिकारियों ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं को आश्वासन दिया कि जल्द उनकी मांगों को पूरा किया जाएगा। इस अवसर काफी संख्या में कालेज के विद्यार्थी मौजूद रहे।