Friday, February 21, 2020 12:56 PM

मंडी में लगाया जाए मक्की टमाटर पर आधारित उद्योग 

मंडी -हिमाचल किसान यूनियन की जिला परिवेदना समिति की बैठक उपनिदेशक कार्यालय मंडी के सभागार में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता कृषि विभाग मंडी उपनिदेशक डा. जीत राम ने की। बैठक में 34 मदों पर विस्तार पूर्व से चर्चा की गई। इसमें किसान आयोग का गठन करना, डा. एमएस स्वामीनाथन की सिफारिशों को लागू करना, जिला मंडी में मक्की, टमाटर पर आधारित उद्योग लगाना, कृषि उपकरण ट्रैक्टर पावर बिडर, पावर टिल्लर, सोलर डॉसर, बोरिंग मशीन, हस्तचालित धान, गेहूं घास काटने की मशीन, जिलास्तर पर प्रिक्योरमैंट का गठन करना, कृषि विभाग की भूमि अन्य विभागों न देना, जिला के सभी कृषि विकास अधिकारियों को 15 दिन संबंधित खंड में भ्रमण सुनिश्चित करना, बल्ह में सब्जी मंडी का निर्माण करना, फसलों की सुरक्षा के लिए कंटीली बाड़ पर 80ः20 उपदान देना, मृदा परीक्षण को प्रगति देना, प्राकृतिक खेती के लिए देशी गाय देना सहित अन्य समस्त मुख्य मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके अलावा यूनियन ने प्रत्येक खंड में 1000-1000 तिरपाल उपलब्ध करवाना, बीज भंडारण के लिए ड्रम सीडबीन देना, मटर का उन्नत किस्म का बीज पी-89, पेंसिल आकार का उपलब्ध करवाना, आजाद किस्म को पूर्णतय बंद करना की मांग को कृषि विभाग के समक्ष रखा। यूनियन के महासचिव सीता राम वर्मा ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश के सभी कृषि उपनिदेशकों व एसएमएस को रेट कांट्रेक्ट का अधिकार देना, बल्ह, नाचन, सुंदरनगर की 60 के दशक में बनी कुहलों की कृषि बहाव योजना के अंतर्गत कपाही से कलाहोड, डुघानाल-मैरामसीत, पैड़ी से कसारला-भंगरोटू कुहल का जीर्णोद्वार करना, टमाटर की उन्नत किस्म के बीज नोबल सीड-2244, अभिमन्यु यूएस-920 और सफाटा के बीज 10-10 ग्राम के पैकेट में उपलब्ध करवाना, पशु चारा मक्खन घास शीघ्र किसानों को उपलब्ध करवाना, खाद बीज व कृषि उपकरण खरीदने  के लिए डिजिटल कार्ड बनाना, हेमराज सरकाघाट को खरीदे गए ट्रैक्टर का उपदान देना, गेंहू-धान के फाउंडेशन व सर्टिफाइड बीज का रेट लागत का 50 प्रतिशत करना व इसका मूल्य मई और सितंबर  में घोषित करना सहित अन्य मांगों को किसानों ने प्रमुखता से उठाया। इस अवसर पर कृषि उपनिदेशक डा. जीत राम ने किसानों की समस्त समस्याओं को गंभीरता से सुना। उन्होंने कहा कि जो मांगे उनके अधिकार क्षेत्र में आती है। उन मांगों को विभाग जल्द हल करेगा, जबकि कुछ मांगों बारे प्रदेश सरकार व कृषि विभाग निदेशक को अवगत करवाया जाएगा। इस अवसर पर मंडी जिला के दस खंडों के एसएमएस, कृषि विकास अधिकारी, हिमाचल किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष सुंका राम ठाकुर, राज्य महासचिव सीता राम वर्मा, कृषि वैज्ञानिक परमा राम चौधरी, जिला मंडी के प्रधान भूप सिंह, बल्ह के प्रधान पदम सिंह, नारायण सिंह, गोहर के सचिव मिलखी राम चंदेल, दौलत राम, जिला कोषाध्यक्ष बलबीर पठानिया सहित अन्य कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहे।