Saturday, July 04, 2020 11:48 AM

मंदी है, वित्तीय संकट नहीं, कोविड संकट में भी प्रदेश की स्थिति बेहतर, सरकार के पास हैं 1900 करोड़ रुपए

शिमला – हिमाचल प्रदेश पर फिलहाल इस महीने वित्तीय संकट नहीं है। माना जा रहा था कि लगातार बढ़ रहे लॉकडाउन के कारण सरकार की आर्थिक स्थिति खराब है। हालांकि कोविड का काफी ज्यादा असर सरकार पर पड़ा है, मगर फिलहाल इस महीने वित्तीय संकट नहीं है। अनुमान था कि शायद इस बार सरकार को लोन लेना पड़े, जिससे वह कर्मचारियों व पेंशनर्स को वेतन व पेंशन की अदायगी कर सके, मगर ऐसी स्थिति नहीं है, क्योंकि केंद्रीय करों में भी हिस्सेदारी के रूप में प्रदेश को 932 करोड़ रुपए की राशि मिली है, वहीं अपने करों से भी आमदनी शुरू हो गई है। कुल मिलाकर सरकार के पास 1900 करोड़ रुपए की राशि उपलब्ध है। बताया जाता है कि हिमाचल के अपने करों से  487 करोड़ रुपए की राशि इस बार आई है। हालांकि पिछले साल इस महीने में 1100 करोड़ की कमाई हुई थी, जो नुकसान सरकार को हुआ है, मगर फिर भी यह महीना सरकार को दिक्कत वाला नहीं है। करीब आधा टैक्स उगाहना सरकार के लिए ऐसी परिस्थितियों में कामयाबी की बात कही जा सकती है। बता दें कि एक्साइज और माइनिंग दो बड़े स्रोत प्रदेश सरकार की कमाई के हैं, जिनसे अब पैसा आना शुरू हो चुका है। पिछले महीने 450 करोड़ और फिर 45 करोड़ रुपए मिले हैं। इस महीने 50 फीसदी कर वसूली सरकार के लिए बेहतर है, जबकि अभी कोई व्यवस्थाएं नहीं चल रही। इससे साफ है कि सरकार को कर्मचारियों को वेतन पेंशन की दिक्कत नहीं होगी।

इस महीने चल जाएगा काम

इस महीने तो सरकार जैसे-तैसे इससे काम चला लेगी, मगर अगले महीने उस पर वित्तीय संकट हो सकता है। तब हो सकता है कि सरकार जून महीने में 800 से 1000 करोड़ रुपए का और ऋण ले। सरकार की ऋण लेने की लिमिट भी बढ़ चुकी है। अब सरकार 7500 करोड़ रुपए तक का ऋण उठा सकती है। वैसे उसकी लिमिट 5200 करोड़ की थी, जिसमें केंद्र सरकार ने इजाफा कर दिया है।

कर्मियों के वेतन के लिए ही चाहिए 900 करोड़ रुपए

सरकार को 900 करोड़ रुपए की राशि कर्मचारियों के वेतन के लिए चाहिए, जबकि 300 करोड़ के करीब पेंशन की अदायगी की जाती है। 400 करोड़ रुपए ऋण की अदायगी पर खर्च होंगे, वहीं 300 करोड़ रुपए अन्य खर्च के लिए भी सरकार के पास बच रहे हैं। सरकार को केंद्रीय करों में हिस्सेदारी समेत अपने कर व दूसरे संसाधनों से कुल 1900 करोड़ के खर्च के लिए पैसा है।

The post मंदी है, वित्तीय संकट नहीं, कोविड संकट में भी प्रदेश की स्थिति बेहतर, सरकार के पास हैं 1900 करोड़ रुपए appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.