Friday, October 18, 2019 12:01 PM

मकान पर गिरा पेड़, दरारें आईं

ऊना में तूफान ने मचाया कहर, भंजाल में गिरी घर की दीवार

गगरेट -उपमंडल गगरेट में रविवार-सोमवार मध्य रात्रि तेज तूफान के साथ हुई बरसात ने खूब कहर बरपाया। तेज बरसात के चलते आलू की फसल को खासा नुकसान हुआ है तो दो घरों पर तूफान के चलते धराशायी हुए पेड़ों ने मकानों को नुकसान पहुंचाने के साथ एक कार को क्षतिग्रस्त कर दिया। उधर, तूफान के चलते बिजली की तारें कई स्थानों पर टूट जाने के चलते बिजली बोर्ड के कर्मचारियों को भी विद्युत आपूर्ति दुरुस्त करने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि रविवार देर सायं तक बारिश के कोई आसार नजर नहीं आ रहे थे, लेकिन जैसे-जैसे रात घुप अंधेरी होती रही वैसे-वैसे बादलों के बीच साजिश शुरू हो गई और रात करीब साढ़े बारह बजे तेज तूफान के साथ हुई भारी बारिश के चलते लोगों को खासा नुकसान उठाना पड़ा। तेज बारिश के चलते आलू की फसल बुरी तरह से प्रभावित हुई है। आलू के खेतों में पानी जमा हो जाने से किसानों द्वारा कड़ी मेहनत करके बीजी गई आलू की फसल पर इसका प्रतिकूल असर पड़ा है। इससे अब आलू का बीज खेत में ही सड़ जाने के प्रबल आसार बन गए हैं। उधर, तेज आंधी के चलते जड़ों से ही उखड़ा एक पेड़ बड़ोह गांव के गुरबचन सिंह के आंगन में जा गिरा। इससे गुरबचन सिंह के मकान में भी दरारें आ गईं जबकि उनके आंगन में खड़ी कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। इस समय यह हादसा हुआ उस समय गुरबचन सिंह का परिवार घर में ही सो रहा था। अगर पेड़ थोड़ा सा और मकान की तरफ गिरता तो मकान भी धराशयी हो सकता था। वहीं, भंजाल गांव में भी तेज बरसात के चलते जोगिंद्र सिंह पुत्र चेतराम के मकान की एक दीवार गिर गई। इस हादसे में भी कोई जानी नुकसान होने से बच गया। उधर, उपतहसील गगरेट के नायब तहसीलदार सुरेंद्र अत्री व तहसील कार्यालय घनारी के नायब तहसीलदार के आदेश पर हलका पटवारियों ने इस प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की रिपोर्ट तैयार कर दी है। राजस्व अधिकारियों ने कहा कि जल्द ही पीडि़त परिवारों को उचित मुआवजा दिया जाएगा।