Friday, December 13, 2019 07:04 PM

मणिकर्ण-मनाली बना हनीमून प्वाइंट

 एडवांस बुकिंग के हाथ होटल पैक, विंटर सीजन के लिए पर्यटन कारोबारी तैयार

भुंतर -सात फेरे लेने के बाद हनीमून मनाने के लिए नवविवाहित जोड़ों ने कुल्लू-मनाली की वादियों को चुना है। इसके साथ धार्मिक नगरी मणिकर्ण में गर्म पानी की जलधाराओं में पवित्र स्नान करने की अपनी तमन्ना को भी ये जोड़े पूरा करने लगे हैं। इन जोड़ों ने मनाली के साथ धार्मिक नगरी में चहल-पहल बढ़ा दी है तो यहां के होटल कारिबारियों के मंदे पड़े धंधे में भी तेजी आ गई है। घाटी के होटलों में इन नवनिवाहित जोड़ों की ओर से एडवांस बुकिंग की सूचना है। होटल मालिकों के अनुसार एक माह पहले तक जहां होटल सुनसान चल रहे थे तो अब इनमें रौनक आ गई है। सैलानियों के लिए अनेक प्रकार के पैकेज भी होटलों के मालिकों ने देने आरंभ कर दिए हंै। जानकारी के अनुसार कुल्लू व मनाली में इन नवविवाहित जोड़ों के लिए कम दामों पर होटलों में कमरे उपलब्ध हो रहे हैं। हर रोज घाटी के लिए  सैकड़ों की तादाद में सैलानी निकल रहे हैं, जिसमें दर्जनों नवविवाहित जोड़े भी शामिल हैं। बाहरी राज्यों के नवविवाहित जोड़ों के लिए मनाली-मणिकर्ण पहली पसंद बनती जा रही है। खासकर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली सहित उत्तरी भारत के राज्यों के नवदंपति जोड़े सबसे ज्यादा यहां के लिए आने लगे हैं, वहीं दक्षिणी भारत और मध्य भारत के नवविवाहितों को भी मनाली-मणिकर्ण रास आने लगा है। इसके अलावा विदेशी सैलानियों के लिए भी यहां की वादियां मनपंसद बनी हैं। मनाली में आने वाले दिनों में बर्फ के दिदार को सैलानी उमड़ेंगे तो मणिकर्ण को यहां पर स्थित गर्म पानी के चश्मों के लिए भी सैलानी सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। भारी ठंड से जहां सैलानी ठिठुरते हैं तो गर्म पानी में डुबकी लगाकर सारी ठंडक भी दूर हो जाती है। पंजाब से आए नवविवाहित जोड़ों किरपाल सिंह, सिमरन, मनविंद्र अरोड़ा और माधुरी अरोड़ा ने यहां आने पर कहा कि मणिकर्ण में गर्म पानी में स्नान करने का मजा ही अलग है। उन्होंने कहा कि मनाली में घूमने के बाद मणिकर्ण में पहली बार आए हैं और यहां की वादियां उन्हें खूब भा रही हैं। पार्वती वैली होटल संघ के प्रधान किश ठाकुर कहते हैं कि हनीमून कपल्स मणिकर्ण में गर्म पानी में डुबकी भी लगाते हैं तो इनके लिए विशेष पैकेज भी दिए जा रहे हैं। बहरहाल, विंटर सीजन के लिए भी कुल्लू-मनाली और मणिकर्ण की वादियां गुलजार हो रही हैं।