Monday, October 21, 2019 12:27 AM

मणिकर्ण में ग्रामीणों ने जाना कानून

मनाली -जिला एवं सत्र न्यायधीश एवं चेयरमैन, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला कुल्लू पुरेंद्र वैद्य ने ग्राम पंचायत मणिकर्ण में कानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान मौजूद सभी लोगों को उनके अधिकारों और कर्त्तव्यों के बारे में अवगत करवाया, जिसमें जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने कहा कि न्याय प्राप्त करना हर व्यक्ति का संवैधानिक अधिकार है, तथा आर्थिक परिस्थितियों के कारण नागरिक को न्याय से वंचित नहीं रखा जा सकता। गरीब लोगों को सुलभ न्याय प्राप्त करने के उद्देश्य से राज्य में विधिक सेवा प्राधिकरण की स्थापना की गई है। प्राधिकरण आर्थिक रूप से कमजोर लोगों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिलाओं, दिव्यांगजनों तथा आपदा पीडि़त लोगों को निःशुल्क न्याय की व्यवस्था करता है। उन्होंने कहा की न्याय प्राप्त करने के लिए एक सादे कागज पर जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण अथवा उप मंडलीय विधिक सेवाएं समिति को आवेदन करना पड़ता है। प्राधिकरण इसके लिए अधिवक्ता उपलब्ध करवाता है, जिसका खर्च भी प्राधिकरण वहन करता है। ग्राम पंचायतों में विधिक साक्षरता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। निःशुल्क कानूनी सहायता के अलावा, नशे के होने वाली हानि, मोटर वाहन अधिनियम, पंचायती राज अधिनियम, तथा महिलाओं के प्रति हिंसा को रोकने के लिए अधिनियम, की भी जानकारी प्रदान की जा रही है। इस अवसर पर उन्होंने नाल्सा की सभी स्कीमों तथा निःशुल्क कानूनी सहायता के बारे में काफी विस्तापूर्वक बताया। इस अवसर पर नौणी विश्वविद्यालय से आए हुए लगभग 50 छात्रों तथा प्रोफेसर भी मौजूद रहे।