Monday, September 16, 2019 07:32 AM

मणिमहेश का रास्ता बना नाला, यात्रा पर फिलहाल रोक

गूईनाला में बारिश से और बिगड़े हालात, डल झील के लिए निकले शिव भक्त सुरक्षित जगह रोके

भरमौर - बारिश के बाद बिगड़े हालत के मद्देनजर पवित्र मणिमहेश यात्रा पर फिलहाल रोक लगा दी गई है। मणिमहेश यात्रा के पड़ाव गूईनाला में पैदल रास्ते के दो सौ मीटर हिस्सा बारिश की भेंट चढ़ने और मौसम के बिगडे़ हालातों के बाद उपमंडलीय प्रशासन ने एहतियात के तौर यह कदम उठाया है। डल झील में डुबकी लगाने को रवाना हुए शिवभक्तों को प्रशासन ने आगामी आदेशों तक सुरक्षित जगह रोक लिया गया है। नतीजतन रास्ते के बहाल होने और मौसम के खुलने के बाद ही यात्रियों को अब डल झील की ओर जाने की अनुमति मिल सकेगी। बहरहाल, लोक निर्माण विभाग रास्ता बहाल करने में जुट गया है। बता दें कि मणिमहेश यात्रा अधिकारिक तौर पर 24 अगस्त से शुरू होकर छह सिंतबर तक चलेगी। बावजूद इसके एक माह पहले ही यात्रा पर श्रद्धालुओं की आवाजाही शुरू हो गई है और रोजाना सैकड़ों यात्री डल झील की ओर निकल रहे हैं। इस बीच उपमंडलीय प्रशासन ने मूसलाधार बारिश के चलते यात्रियों के डल झील की जाने पर रोक लगा दी है। यात्रा पर आ रहे श्रद्धालुओं को हड़सर में ही रोक लिया गया है। हड़सर से ऊपर यात्रा के विभिन्न पड़ावों में यात्रियों को सुरक्षित जगह रोका गया है। चूंकि बारिश के कारण गूईनाला में दो सौ मीटर के करीब पैदल रास्ता तहस-नहस हो गया है। उधर, मणिमहेश न्यास के अध्यक्ष एवं एडीएम भरमौर पृथी पाल सिंह ने कहा कि गूईनाला में रास्ता खोलने का काम पीडब्ल्यूडी ने युद्धस्तर पर चला रखा है। उन्होंने यात्रियों से अपील की है कि मौसम साफ तथ स्थिति सामान्य होने तक वे सुरक्षित स्थानों में रुके रहें और प्रशासन के आदेशों के बाद ही यात्रा पर निकलें। बहरहाल, भरमौर में बारिश का दौर थमने से प्रशासन ने एक बड़ी राहत महसूस की है।