Tuesday, November 12, 2019 09:57 AM

मनाली-लेह मार्ग तीन दिन बाद बहाल

लाहुल-स्पीति में फंसे दो हजार से अधिक सैलानियों को रेस्क्यू करने में जुटा प्रशासन

केलांग -मनाली-लेह मार्ग को बीआरओ ने सोमवार शाम को बहाल कर दिया है। बीते तीन दिनों से मनाली-लेह मार्ग के विभिन्न क्षेत्रों में फंसे दो हजार से ज्यादा सैलानियों ने जहां सोमवार शाम को राहत की सांस ली है, वहीं प्रशासन ने स्पीति की चंद्रताल झील के समीप फंसे 127 पर्यटकों को सुरक्षित रेस्क्यू कर काजा पहुंचाया है। सोमवार वार शाम तक जहां लाहुल-स्पीति प्रशासन के अधिकारी बीआरओ के अधिकारियों के साथ मिली मनाली-लेह मार्ग की बहाली के कार्य को अंजाम देने मंे जुटे हुए थे, वहीं लाहुल-स्पीति प्रशासन ने सैलानियों को लाहुल के गांवों में ठहराया था। उपायुक्त लाहुल-स्पीति केके सरोच ने खबर की पुष्टि करते हुए बताया कि सोमवार शाम को मनाली-लेह मार्ग को बहाल कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि लाहुल में बहने वाले तेलिंग नाला व पागल नाला के उफान पर बहने से सड़क पर गाडि़यों की आवाजाही गत तीन दिनों ठप थी,वहीं प्रशासन ने तेलिंग गांव से एक वाई पास सड़क को दुरुस्त कर कोकसर के लिए तैयार करवा यहां फंसे सैलानियों को सुरक्षित रेस्क्यू कर कोकसर पहुंचाया है। उन्होंने बताया कि बीआरओ ने जैसे ही उक्त मार्ग को बहाल किया प्रशासन ने लाहुल की तरफ से पहले चरण में करीब 500 गाडि़यों को रोहतांग की तरफ सोमवार देर शाम को भेजा है। उन्होंने बताया कि बीआरओ व पुलिस प्रशासन के जवानों को मशीनों संग रोहतांग के रास्ते पर तैनात किया गया है और सोमवार रात को ही लाहुल में फंसे सभी वाहनों को सुरक्षित मनाली पहुंचाने की व्यवस्था प्रशासन ने की है।  उन्होंने बताया कि घाटी के विभिन्न क्षेत्रों में गत तीन दिनों से फंसे हजारों सैलानियों की सुरक्षा को ध्यान में रख प्रशासन ने एक डाक्टरों की टीम को भी रविवार सुबह ही कोकसर पहुंचा दिया था। उन्होंने बताया कि सोमवार देर शाम जहां मनाली-लेह मार्ग को बहाल कर दिया गया है, वहीं लाहुल में फंसे सैलानियों को सुरक्षित घाटी से बाहर पहुंचाने की व्यवस्था पर काम किया जा रहा है। यहां बता दें कि  कोकसर और सिस्सू के बीच ही 400 गाडि़या गत तीन दिनों से फंसी हुई थी। यहां पागलनाले में आई बाढ़ ने पर्यटकों की राह रोकी थी। सैलानी सिस्सू के होटलों व घरों में शरण लिए हुए थे।  उधर, बीआरओ के कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि सोमवार देर शाम बीआरओ ने मनाली-सरचू सड़क को यातायात के लिए बहाल कर दिया है।