Thursday, July 02, 2020 04:46 PM

मनाली से जल्द जुड़ेगी स्पीति

केलांग -मनाली-लेह मार्ग की बहाली के बाद अब बीआरओ ने स्पीति घाटी को मनाली से जोड़ने के लिए कसरत शुरू कर दी है। बीआरओ के अधिकारियों की माने तो जून माह के पहले सप्ताह में स्पीति घाटी को मनाली से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। ऐसे में जहां ग्रांफू-काजा सड़क की बहाली का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू किया गया है, वहीं बीआरओ की दो टीम इस सड़क की बहाली के कार्य को अंजाम दे रही है। 205 किलो मीटर लंबी ग्रांफू-काजा सड़क से बर्फ हटाने का कार्य 60 फीसदी जहां पूरा कर लिया गया है, वहीं जल्द ही बीआरओ इस सड़को बहाल कर स्पीति का संपर्क मनाली से जोड़ देगी। बीआरओ के कमांडर कर्नल उमा शंकर का कहना है कि बीआरओ ने जहां मनाली-लेह मार्ग को रिकार्ड समय में बहाल किया है, वहीं अब सीमा सड़क संगठन ने अपना अगला लक्ष्य ग्रांफू-काजा सड़क की बहाली का रखा है। उन्होंने कहा कि बीआरओ की दो टीमें उक्त सड़क की बहाली में जुटी हुई हैं। ऐसे में मौसम ने साथ दिया तो वह जून माह के पहले सप्ताह में उक्त सड़क को बहाल कर देंगे। उन्होंने बताया कि मनाली की तरफ से बीआरओ की टीम ने जहां 20 किलो मीटर सड़क से बर्फ हटा दी है, वहीं जल्द ही वह सड़क के बाकी क्षेत्र को भी बहाल कर देंगे।

बर्फ हटाने का काम युद्ध-स्तर पर

काजा की तरफ से बर्फ हटाने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। यहां बता दें कि स्पीति घाटी में पहुंचने के लिए ग्रांफू-काजा सड़क एक मात्र ऐसी सड़क है, जो यात्रियों को कम समय में स्पीति पहुंचाती है। ऐसे में समर सीजन के दौरान जहां अधिकतर लोग इस सड़क से ही आवाजाही करते हैं, वहीं आम दिनों में देश-विदेश के सैलानी स्पीति पहुंचने के लिए इसी सड़क से सफर करने को प्राथमिकता देते हैं। उल्लेखनीय है कि बीआरओ ने जहां इस वर्ष लाहुल-स्पीति की सड़कों को रिकार्ड समय में बहाल किया है, वहीं अब बीआरओ का अगला मिशन स्पीति का संपर्क मनाली से जोड़ना है। बीआरओ के अधिकारियों ने जहां काम शुरू कर दिया है, वहीं जल्द ही ग्रांफू-काजा सड़क यात्रियों के लिए बहाल होगी। ऐेसे में अब जल्द ही जहां बीआरओ के जवान स्पीति घाटी को मनाली से जोड़ देंगे, वहीं उक्त सड़क पीछले सात माह से बंद पड़ी है। बर्फबारी अधिक होने के कारण जहां सड़क को रिकार्ड समय में बहाल करना बीआरओ के जवानों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है, वहीं मिशन स्पीति पर बीआरओ के जवानों ने युद्ध स्तर पर काम शुरू कर दिया है।