Tuesday, June 02, 2020 12:00 PM

महाराष्ट्र पर महासंकट, एक दिन में कोरोना के रिकार्ड 2940 केस, 45 हजार के करीब संक्रमित

मुंबई - महाराष्ट्र में कोरोना वायरस हर दिन नए रिकार्ड बना रहा है। पिछले 24 घंटे में 2940 नए कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। यह एक दिन में कोरोना मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। अब राज्य में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 44582 हो गई है। राज्य में पुलिस भी कोरोना से बुरी तरह जूझ रही है। महाराष्ट्र पुलिस के 1666 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें से 18 की मौत हो चुकी है। राज्य में शुक्रवार को कोरोना के कुल 63 मरीजों की मौत हो गई। इस प्रकार राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या अब 1517 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि यह लगातार छठा दिन है, जब महाराष्ट्र में दो हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। अब तक राज्य में कुल 12583 मरीज ठीक हो चुके हैं और कुल 30474 एक्टिव केस बचे हैं। राज्य में 332777 लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1751 मामले सामने आए और कुल 27 मरीजों की मौत हो गई। सिर्फ मुंबई में ही कोरोना के मरीजों की संख्या अब 27251 हो चुकी है। महाराष्ट्र में कोरोना से मरने वाले कुल 1517 लोगों में से 909 लोग सिर्फ मुंबई से ही हैं। संक्रमण के मामले में तमिलनाडु दूसरे नंबर पर है, जबकि गुजरात और दिल्ली तीसरे एवं चौथे क्रम पर हैं। चारों राज्यों में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 80 हजार से ज्यादा है। वहीं, इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 6068 मामले आए, जिससे कुल संक्रमितों की संख्या 118447 पर पहुंच गई थी।

80 फीसदी मरीज पांच राज्यों से

संक्रमण के कुल मामलों में 80 प्रतिशत केवल पांच राज्यों से हैं। इनमें भी 60 प्रतिशत मामले पांच शहरों तक सिमटे हुए हैं। इसी तरह अगर हम 90 प्रतिशत  मामलों का आंकलन करते हैं, तो ये देश के 10 राज्यों से आए हैं। इनमें भी 70 प्रतिशत मामले केवल 10 शहरों से हैं। संक्रमण के चलते अभी तक एक लाख 85 हजार कोविड बेड का प्रयोग हुआ है। 3 लाख बेड तैयार हैं जिनका अभी तक प्रयोग नहीं हुआ है। ये आगे की परिस्थिति के लिए है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ये वायरस अभी खत्म नहीं हुआ है। अब भी हम इसके बारे में बहुत सारी बातें नहीं जानते, इसलिए हमें चौकन्ना रहने की जरूरत है। हर किसी को अपनी इम्युनिटी को सही रखने के लिए आयुष मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन करना चाहिए। अगर किसी को भी समस्या है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। छिपाने से यह बीमारी दूर नहीं होगी। आगे का सफर आसान नहीं होगा, यह हफ्ते या महीनों की बात नहीं उससे आगे की बात होगी।

चार दिन से रोजाना एक लाख से ज्यादा टेस्ट

नई दिल्ली - इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने बताया कि देश में अब ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग पर फोकस किया जा रहा है। पिछले चार दिनों से रोज एक लाख से ज्यादा टेस्टिंग हो रही हैं। शुक्रवार को 1 लाख 57 हजार 16 लोगों का टेस्ट हुआ। अभी तक 27 लाख 19 हजार 434 लोगों की जांच की जा चुकी है। देश में मौतों की रफ्तार भी कम हुई है। आंकड़े देखें तो 19 मई को देश में 3.13 प्रतिशत की दर से मौतें हो रही थीं, अब यह घटकर 3.0 प्रतिशत हो गई है।