Wednesday, August 21, 2019 04:40 AM

महिलाओं पर बढ़ती हिंसा-असुरक्षा की भावना चिंता का विषय

श्रीरेणुकाजी -अखिल भारतीय महिला समिति का जिला सम्मेलन सोमवार को ददाहू में आयोजित किया गया, जिसमें राज्य अध्यक्ष अखिल भारतीय महिला समिति संतोष कपूर ने कार्यक्रम में शिरकत करते हुए ध्वजारोहण किया, जबकि जिला सम्मेलन का शुभारंभ राज्य महासचिव जयमंति ने किया। इस मौके पर अखिल भारतीय महिला समिति के पदाधिकारियों ने महिलाओं पर बढ़ती हुई हिंसा एवं असुरक्षा पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार के आते ही प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा दांव पर लग रही है। अखिल भारतीय महिला समिति की राज्य अध्यक्ष संतोष कपूर, जिला अध्यक्ष अमिता चौहान, महासचिव जयवंती, कोषाध्यक्ष सीता तोमर, उपाध्यक्ष सुनीता अत्री, रेणु चौहान, रेणु ठाकुर इत्यादि ने जारी बयान में बताया कि प्रदेश में महिलाओं पर हिंसा के मामले थमने की वजाय बढ़े हैं। यहां तक कि छोटी बच्च्चियों को भी बख्शा नहीं जा रहा है। कार्यस्थल पर महिला असुरक्षा के माहौल में कार्य को मजबूर हैं। इस दौरान महिला समिति ने बढ़ते हुए महिला हिंसा, नशाखोरी, सरकारी विभागों में रिक्त पदों विशेष तौर पर अस्पतालों में खस्ताहाल सुविधाओं एवं रिक्त पदों को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाने का भी प्रस्ताव पारित किया। अखिल भारतीय महिला समिति ने जिला सम्मेलन में इसके अलावा ज्वलंत समस्याओं पर सरकार से मांग की है कि महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का विधेयक लाया जाए। इसके अलावा धारटीधार में पेयजल एवं सिंचाई सुविधाएं उपलब्ध करवाने, जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा इत्यादि मुद्दों पर प्रस्ताव पारित कर आगामी योजनाएं तैयार की गई। इस दौरान अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने जिला सम्मेलन मंे त्रैवार्षिक कमेटी का भी गठन किया है। वहीं इससे पूर्व सम्मेलन में पिछले तीन वर्षों का लेखा-जोखा रखा गया। समिति ने 33 प्रतिशत सदस्यीय कमेटी का गठन किया, जिसमें जिला अध्यक्ष के तौर पर अमिता चौहान को तैनाती दी गई। इसके अलावा मीनू ठाकुर को सचिव, कोषाध्यक्ष सीता तोमर, उपाध्यक्ष सुनीता अत्री, कुब्जा सुनीता शर्मा, मीरा, सेवती कमल तथा सह-सचिव रेणू चौहान, रेणू ठाकुर, राधा, सीमा, चंद्रकला, जबकि सदस्य के रूप में लक्ष्मी, दुर्गा देवी, चंपा, कौशल्या, मंथरा, सीता शर्मा, निर्मला, सरला, पद्मावती, राधा, अनिता, कृष्णा, आशा, रक्षा, परीक्षा, जसविंद्र आदि बनाए गए।