Friday, December 13, 2019 07:21 PM

मां रेणुकाजी से मिलकर वापस लौटे भगवान परशुराम

अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेले के समापन पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांधा देकर पालकियों को किया विदा, प्रदर्शिनियों का भी किया अवलोकन

श्रीरेणुकाजी  -अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेला मंगलवार को संपन्न हो गया। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भगवान श्री परशुराम जी की पालकियों को रेणुकाजी स्थित भगवान परशुराम जी के मंदिर से कांधा देकर पूरी पूजा-अर्चना के बाद विधिवत अपने-अपने मंदिरों को रवाना किया। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल विशेषतौर पर उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि मेले व त्योहार हमारी संस्कृति के परिचायक हैं। उन्होंने कहा कि मेलों से पौराणिक संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। भगवान परशुराम व माता श्रीरेणुकाजी के पावन मिलन का प्रतीक छह दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रेणुकाजी मेले के अवसर पर मुख्यमंत्री का गर्मजोशी के साथ श्रीरेणुकाजी पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं, स्थानीय लोगों व पार्टी के नेताओं ने मुख्यमंत्री का फूल मालाओं से स्वागत किया। तत्त्पश्चात मुख्यमंत्री ने भगवान श्री परशुराम व माता रेणुकाजी के मंदिर में शीश नवाकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर पूजा अर्चना के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीरेणुकाजी मेला आज भी न केवल हिमाचल प्रदेश बल्कि पूरे उत्तर भारत में प्रसिद्ध है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेला आज भी पुरानी परंपराओं के साथ मनाया जाता है, जिसमें लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ पहुंचती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीरेणुकाजी मेला पहाड़ी संस्कृति को मजबूत करने में भी अहम भूमिका निभाता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने रेणु मंच से लोगों को बधाई देते हुए कहा कि रेणुका विधानसभा क्षेत्र की जो भी समस्याएं व मांगें उनके समक्ष लाई जाएंगी वह उनके समाधान का प्रयास करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने पालकियों को मिलने वाली 11 हजार रुपए का नजराना बढ़ाकर 21 हजार किए जाने की घोषणा की। गौर हो कि अंतरराष्ट्रीय रेणुकाजी मेला भगवान परशुराम व उनकी माता श्रीरेणुकाजी के मिलन का प्रतीक है। दशमी के दिन भगवान परशुराम अपनी मां रेणुका से मिलने श्रीरेणुकाजी आते हैं। मुख्यमंत्री ने इस दौरान विभिन्न विभागों व स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शिनियों का अवलोकन किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री सरकारी हेलिकाप्टर इस वर्ष नए निर्मित किए गए बिरला पंचायत में हेलिपैड से उतरे तथा श्रीरेणुकाजी पहुंचे। रेणुकाजी पहुंचने से पूर्व मुख्यमंत्री ने ददाहू में पेयजल योजना व आईपीएच विभाग के नए उपमंडल कार्यालय का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि ददाहू व श्रीरेणुकाजी क्षेत्र के लिए ये पेयजल योजनाएं मील का पत्थर साबित होंगी।  मुख्यमंत्री ने इस दौरान हिमाचली लोक गायक कुलदीप शर्मा व अन्य हिमाचली कलाकारों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम का भी लुत्फ उठाया। जैसे ही नाटी किंग कुलदीप शर्मा मंच पर पहुंचे तथा उन्होंने हिमाचली नाटियों का सिलसिला शुरू किया तो मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व अन्य नेता अपने आपको झूमने से नहीं रोक पाए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी रेणु मंच पर नाटी किंग कुलदीप शर्मा के गानों पर जमकर पहाड़ी डांस किया।

कार्यक्रम में ये रहे उपस्थित

मुख्यमंत्री के अलावा हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल, शिमला लोकसभा के सांसद सुरेश कश्यप, हिमाचल प्रदेश कृषि एवं विपणन बोर्ड के चेयरमैन बलदेव भंडारी, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर, रेणुका के विधायक विनय कुमार, पच्छाद की विधायक रीना कश्यप, पांवटा के विधायक सुखराम चौधरी, भाजपा के जिला अध्यक्ष विनय गुप्ता, भाजपा के वरिष्ठ नेता बलबीर चौहान, रेणुका विकास बोर्ड के अध्यक्ष व उपायुक्त सिरमौर डा. आरके परूथी, एसपी सिरमौर डा. अजय कृष्ण शर्मा, रेणुका विकास बोर्ड के सीईओ दीप राम शर्मा, अतिरिक्त उपायुक्त प्रियंका वर्मा, एसडीएम नाहन विवेक शर्मा समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी व नेता उपस्थित थे।