Monday, September 16, 2019 07:56 AM

माइग्रेशन अब ऑनलाइन

एचपीयू में अब छात्रों को रेजिस्ट्रेशन की भी मिलेगी सुविधा, नहीं काटने पड़ेंगे बार-बार चक्कर

शिमला -हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में अब छात्रों को ऑनलाइन  सुविधा के तहत रजिस्टे्रशन और माइग्रेशन की सुविधा दी जा रही है। इससे पहले छात्रों को रेजिस्ट्रे्रशन और माइग्रेशन के लिए एचपीयू के कई चक्कर काटने पड़ते थे, लेकिन अब छात्रों को एचपीयू ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से यह सुविधा देने जा रहा है। अब छात्रों को एचपीयू से माइग्रेेशन करवाने के साथ-साथ रेजिस्ट्रेशन जैसी सुविधा ऑनलाइन की जा सकती है। इस सुविधा से छात्रों को काफी लाभ मिलने वाला है। हिमाचल प्रदेश विवि से पढ़ाई करने वाले छात्रों को, अन्य विश्वविद्यालयों में कोर्स करने जाने वाले हजारों छात्रों को घर बैठे रजिस्ट्रेशन, माइग्रेशन करवाने की ऑनलाइन किया जा सकता है। इसे शुरू करने का कार्य अंतिम चरणों में है। उम्मीद जताई जा रही है कि एक माह में विवि की रजिस्ट्रेशन माइग्रेशन ब्रांच ऑनलाइन सुविधा शुरू करेगी। इसके लिए सॉफ्टवेयर तैयार कर लिया है साथ ही इसके लिए अभी तक आठ कम्प्यूटर लगाए गए हैं। ऑनलाइन प्रक्रिया को शुरू करने के लिए कर्मचारियों को ऑनलाइन प्रक्रिया का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जैसे ही प्रशिक्षण पूरा हो जाएगा शाखा ऑनलाइन हो जाएगी। विवि के एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग ईआरपी के तहत शाखा को ऑनलाइन किया जा रहा है। कार्य अंतिम चरणों में है। इससे पहले छात्रों को विवि के यूजीए पीजी डिग्री और डिप्लोमा कोर्स करने वाले लाखों छात्रों का विवि में रजिस्ट्रेशन होता है। यदि छात्र दूसरे विवि से कोई डिग्री या कोर्स करना चाहता है, तो उसे एचपीयू से माइग्रेशन लेना होता है। अब तक छात्र स्वयं विवि की रजिस्ट्रेशन माइग्रेशन शाखा में फार्म भरकर और तय फीस जमा करवाकर आवेदन करते हैं। जरूरत पड़ने पर विवि एक या दो दिन में भी माइग्रेशन उपलब्ध करवाता रहा है। यूजी और पीजी के परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद अधिकतर छात्र माइग्रेशन लेने आते हैं। ऑनलाइन प्रक्रिया से शुरू होने से अब छात्रों को राहत मिलने वाली है।

ऑनलाइन जमा करवा पाएंगे आवेदन और फीस

रजिस्ट्रेशन और माइग्रेशन की प्रक्रिया ऑनलाइन करने पर छात्र कहीं से भी आवेदन और ऑनलाइन फीस जमा करवा सकते है। छात्रों को ऑनलाइन ही माइग्रेशन सर्टिफि केट मिलेगा। इसकी मूल प्रति विवि अलग से छात्र के पते पर या संबंधित संस्थान में भेजेगा।