Monday, October 21, 2019 07:40 AM

मानसिक रोगी निकला बदसलूकी करने वाला

मंडी—सीएचसी डैहर में मंगलवार को महिला चिकित्सक के साथ पुरुष मरीज द्वारा बदसलूकी करने के मामले में गुरुवार को नया मोड़ सामने आया है। महिला चिकित्सक के साथ बदसलूकी करने वाले व्यक्ति सुरेश कुमार की पत्नी जमना देवी ने अपने पति को बेगुनाह करार देते हुए कहा कि उसका पति मानसिक रोगी है व इस वर्ष जनवरी से सुंदरनगर, नेरचौक व पीजीआई चंडीगढ़ से अपनी बीमारी का उपचार करवा रहा है। जमना देवी ने बताया कि इस वर्ष जनवरी महीने में उसके पति सुरेश कुमार के सिर में जोरदार दर्द  होने के बाद  एक आंख की रोशनी पूर्ण रूप से चली गई व उपचार हेतु सुंदरनगर अस्पताल व उसके बाद नेरचौक मेडिकल कालेज में उपचारधीन रहा। जिसके बाद चिकित्सकों द्वारा काफी प्रयास करने के बाद भी स्वास्थ्य लाभ न होने की सूरत में चिकित्सकों द्वारा उन्हें पीजीआई चंडीगढ़ रैफर कर दिया गया, ताकि उसकी दूसरी आंख की रोशनी को जाने से बचाया जा सके। चंडीगढ़ पीजीआई में कई दिनों तक उपचार के बाद वे घर वापस लौट आए व नियमित दवाइयां दी गइर्ं, लेकिन कुछ दिनों से उसके पति सुरेश कुमार मानसिक रूप से हिंसक व आक्रामक हो गए थे व बीपी भी हाई हो रहा था। घरवालों की भी पहचानना बंद कर दिया था। जिसके उपचार हेतु वे गत मंगलवार को सीएचसी डैहर पहुंचे, लेकिन भीड़ अधिक होने के कारण उन्हें कुछ समय के लिए रुकना पड़ा। इस दौरान उसके पति मानसिक असंतुलन के कारण थोड़े हावी हो उठे, लेकिन बड़ी मुश्किल से अपने पति को वापस घर लेकर गई। बुधवार को उसके पति को डैहर पुलिस घर से अपने साथ डैहर चौकी पूछताछ हेतु ले आई। लेकिन यहां भी उसके पति की तबीयत और ज्यादा हो गई व सीएचसी में जांच के बाद उन्हें सुंदरनगर अस्पताल रैफर कर दिया था। अब उनके पति बुधवार से सुंदरनगर अस्पताल में उपचाराधीन है जहां पर भी उनका आक्रामक रवैया जारी है। सीएचसी डैहर में उनके पति द्वारा जो भी व्यवहार महिका चिकित्सक के साथ किया वह सिर्फ मानसिक रोग के कारण हुआ है, जिसके लिए वे महिला चिकित्सक से माफी मांगती हैं। सुरेश कुमार की पत्नी जमना देवी ने पुलिस प्रशासन से उनके पति की मानसिक बीमारी व स्थिति को देखते हुए आगामी कार्रवाई अमल में लाने की मांग की है।