Wednesday, December 11, 2019 05:41 PM

मानसून में न खाएं पत्‍तेदार सब्‍जियां

आपने हरी सब्जियों के महत्त्व के बारे में तो सुना ही होगा।  हरी सब्जियां खाने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बॉडी को कई तरह के लाभ भी मिलते हैं। फलों और सब्जियों में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन और मिनरल्ज होते हैं। जो हमारे शरीर को रोगों की चपेट में आने से बचाते हैं, लेकिन मानसून के दौरान अपने खाने-पीने का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अगर आप इस मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियां खाना पसंद करते हैं, तो इन्हें खाने से थोड़ा परहेज करना चाहिए। वैसे तो हरी पत्तेदार सब्जियां आपकी सेहत के लिए अच्छी होती हंै और इनमें कई प्रकार के पोषक तत्त्व भी पाए जाते हंै, लेकिन अगर एक्सपर्ट की मानें तो इन्हें मानसून में खाने से बचना चाहिए। आइए जानते हैं कि मानसून में पत्तेदार सब्जियों का सेवन क्यों नहीं करना चाहिए।

कीड़े -मकौड़ों का घर

मानसून के दौरान हरी पत्तेदार सब्जियों में कीड़े-मकौड़े अपना घर बना लेते हैं। पत्तागोभी, फूलगोभी और ब्रॉकली जैसी हरी सब्जियों में कीडे़-मकौडे़ इस तरह अंदर तक घुसे रहते हैं कि दिखाई भी नहीं देते। इसलिए अगर इन सब्जियों को खाना भी है, तो पकाने से पहले नमक वाले गर्म पानी में डाल कर इन्हें उबाल लें और फिर पकाएं।

सूरज की रोशनी की कमी

मानसून के दौरान हरी पत्तेदार सब्जियों को ठीक तरह से सूरज की रोशनी भी नहीं मिल पाती है, जिसके चलते इनमें कीटाणुओं का ढेर जम जाता है। इन सब्जियों का सेवन करने से यह वायरस शरीर में प्रवेश कर जाते हैं, जिससे कई प्रकार की संक्रामक बीमारियां हो जाती हैं।

रंग बढ़ाने के लिए इन्जेक्शन लगाना

मानसून के दौरान सब्जियों को हरा भरा दिखाने के चक्कर में सब्जी वाले इन्हें रंग का इन्जेक्शन लगाने लगते हैं। इन नकली रंगों का सीधा असर हमारी इम्युनिटी पर पड़ता है और इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है, जिससे शरीर  को तमाम तरह की बीमारियां घेर लेती हंै।