Tuesday, February 18, 2020 07:03 PM

मार्च में छह दिन बंद रहेंगे बैंक

तीन दिन छुट्टी; तीन दिन हड़ताल पर रहेंगे कर्मचारी, लोगों को झेलनी होगी दिक्कत

शिमला - हिमाचल प्रदेश में मार्च माह के दौरान जनता को बैकिगं सेवा के लिए परेशानियों का सामना रकना पड सकता है। लंबित मांगोें को लेकर बैंक कर्मचारी मार्च माह में फिर से हड़ताल पर जाने की तैयारी में है। बैंक कर्मचारी तीन दिन की प्रस्तावित हड़ताल निधार्रित है। उक्त तीन रोज के साथ दिन दिन का सार्वजनिक अवकाश आ रहा है। ऐसे में जनता को लगातार छह दिनों तक बैकिगं सेवा के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। यूनाईटेड फोरम ऑफ बैक यूनियन द्वारा मार्च माह में 11, 12 व 13 फरवरी को हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है। 10 फरवरी को होली का अवकाश है। वहीं 14 व 15 फरवरी को भी सार्वजनिक अवकाश में हैं। ऐसे में लगातार छह दिनों तक बैंक बदं रहेगें। जो जनता के लिए परेशानियां लेकर आ सकता है। बैंक कर्मचारियों द्वारा जनवरी माह के दौरान भी दो दिवसीय हड़ताल की गई थी। दो दिवसीय हड़ताल के बाद अभी तक बैंक यूनियन के सरकार से कोई वार्ता नहीं हो पाई है। ऐसे में बैंक कर्मचारी मार्च माह में प्रस्तावित शडयूल पर अडिग है। यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के प्रदेशाघ्यक्ष नरेंद्र चौहान ने कहा कि अभी तक बैक कर्मचारियों की मांगों पर कोई वार्ता नहीं हो पाई है। केंद्र्र सरकार की नीतियों के विरोध के विरोध में बैंक कर्मचारी व अधिकारियों को मजबूरन आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ रहा  है। यूएफ बी यू ने 1.11.2017 को इतना वृद्धि के लिए चार्टर ऑफ  डिमांड आईबीए को सौंपा था। इस मुद्दे पर कई बैठके हुई, लेकिन कर्मचारियों की मांगों पर कोई सहमति नहीं बन पाई है, जिससे बैंक कर्मचारियों में भारी रोष है। ऐसे में बैक कर्मचारी मार्च माह के दौरान तीन दिन की हड़ताल पर रहेगें।

बैंक कर्मियों की मुख्य मांगें

वेतन में 20 फीसदी वृद्वि की जाए, बैंक में पांच दिन का कार्य हो।  स्पेशल अलॉन्स को बेसिक पे में मिलाया जाए। पेंशन का अपडेटेशन होना चाहिए।  फैमिली पेंशन में सुधार हो व रिटायरमेंट बेनिफिट  को कर मुक्त किया जाए और अधिकारी वर्ग का वर्किग आर्वर निधार्रित किया जाए।

अप्रेल में क्या होगा

प्रदेश में बैक कर्मचारियों की हड़ताल केकारण जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।  जहां मार्च माह में लगातार छह दिनों तक बैक बदं रहेगें वही बैक कर्मचारी मागों को लेकर एक अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की तैयारियों में है। जो जनता के लिए आफत लेकर आ सकता है।