Friday, October 18, 2019 12:51 PM

मुंबई आकर फिल्म निर्माताओं से करें बात

भारतीय फिल्म निर्माता संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी का मुख्यमंत्री को न्योता

शिमला - भारतीय फिल्म निर्माता संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कुलमीत मक्कड़ ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को मुंबई आकर फिल्म निर्माताओं को हिमाचल का न्योता देने का प्रस्ताव दिया है। बुधवार को उन्होंने यहां  मुख्यमंत्री व सूचना एवं जन संपर्क विभाग के प्रधान सचिव संजय कुंडू से मुलाकात कर यह न्योता दिया। इस मौके पर संजय कुंडू ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश को फिल्म उद्योग का पसंदीदा स्थल बनाने के लिए प्रयासरत है, जिससे प्रदेश में पर्यटन को व्यापक बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। संजय कुंडू ने कहा कि राज्य सरकार ने इसी साल जून महीने में नई फिल्म नीति बनाई है जिसमें प्रदेश के फिल्म निर्माताओं के लिए बहुत कुछ है। इस अवसर पर उपनिदेशक (तकनीकी), सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग ने हिमाचल प्रदेश की फिल्म पॉलिसी की मुख्य विशेषताओं का ब्यौरा दिया। कुलमीत मक्कड़ ने उनके माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को बालीवुड फिल्म निर्माताओं तथा सिनेमाघर मालिकों से मिलने के लिए मुंबई आने का निमंत्रण दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री प्रदेश की फिल्म नीति, फिल्म निर्माताओं के साथ चर्चा कर सिनेमाघर मालिकों को राज्य में आधुनिक सिनेमाघर स्थापित करने के लिए आमंत्रित करें। बता दें कि फिल्म शूटिंग हेतु प्रदेश के अनछुए पर्यटक स्थलों जैसे चांशल, पौंग डैंम, बीड़ बिलिंग व जंजैहली इत्यादि के नाम सुझाए जा सकते हैं, जो प्रदेश सरकार द्वारा ‘नई राहें नई मंजिलें’ योजना के तहत पर्यटक हब के रूप में विकसित किए जा रहे हैं। उन्होंने प्रधान सचिव को बताया कि रमेश सिप्पी तथा सुभाष घई जैसे मशहूर फिल्म निर्माताओं ने मुंबई में मीडिया तथा मनोरंजन शिक्षा केंद्र स्थापित किए हैं। रमेश सिप्पी द्वारा मुंबई विश्वविद्यालय के सहयोग से रमेश सिप्पी अकेडमी ऑफ सिनेमा एंड एंटरटेनमेंट खोला गया है। उन्होंने सुझाव दिया कि हिमाचल सरकार यहां के युवाओं के कौशल विकास के लिए इस तरह के संस्थान यहां स्थापित कर सकती है, ताकि युवा फिल्म एवं मनोरंजन जगत में अपना कैरियर बना सकें।