Saturday, July 04, 2020 04:28 PM

मुंबई से लौटी युवती कोरोना पॉजिटिव

18 मई को मां-बाप के साथ पहुंची थी संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर संधोल, मंडी शिफ्ट

मंडी -दो दिन की राहत के बाद अब मंडी जिला में एक और कोरोना पाजिटिव मामला सामने आ गया है। रविवार को धर्मपुर उपमंडल की 19 वर्षीय युवती कोरोना पाजिटिव निकली है। यह युवती अपने परिवार के साथ 18 मई को मुंबई से लौटी थी। हालांकि इस युवती में भी मुंबई से लौट कर जांच में पाजिटिव पाए गए अन्य चार मरीजों की तरह कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं हैं। इस युवती का सैंपल जांच में कोरोना पाजिटिव होने का खुलासा हुआ है। युवती के माता-पिता की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। राहत की बात यह है कि मुंबई से आने के बाद से यह युवती अपने परिवार के साथ संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर संधोल में ही थी। इसका किसी से मिलना जुलना भी नहीं हुआ है और न ही यह किसी वजह से सेंटर से बाहर गई है। युवती के पॉजिटिव आने के बाद अब इसे जल शक्ति विभाग के मंडी स्थिति टे्रनिंग सेंटर में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में भेज दिया गया है। वहीं इस युवती के पॉजिटिव आने के बाद मंडी में जिला कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 11 हो गई है, जबकि जिला में इस समय एक्टिव कोरोना मरीज नौ हैं। जिला में जोगिंद्रनगर का पॉजिटिव युवक ठीक होकर घर लौट चुका है और सरकाघाट के एक युवक की कोरोना से मौत भी हो चुकी है। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग ने नेरचौक मेडिकल कालेज में मंडी जिला के 194 सैंपल जांच के लिए लगाए थे, जिनकी पूरी रिपोर्ट रविवार दोपहर को पहुंची है। जिसमें एक सैंपल रिपीट करने के लिए कहा गया है, जबकि 192 सैंपल नेगेटिव और यह युवती पाजिटिव पाई गई है।

अब शिक्षण संस्थान नहीं होंगे क्वारंटाइन सेंटर

डीसी मंडी ऋ ग्वेद ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुरूप अब जिला में स्कूलों, कालेजों को संस्थागत क्वारंटाइन केंद्र नहीं बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहले बाहरी राज्यों से ज्यादा संख्या में लोग मंडी आ रहे थे, तब पंचायतों व अन्य भवनों के अलावा शिक्षण संस्थानों में भी क्वारंटाइन केंद्र बनाए गए थे। सरकार ने शिक्षण संस्थानों में बने क्वारंटाइन केंद्रों को 28 मई तक खाली करने को कहा है। प्रशासन ने मंडी जिला में यह प्रक्रिया शुरू कर दी है। अब जो भी लोग आ रहे हैं, उन्हें शिक्षण संस्थानों की बजाय अन्य क्वारंटाइन केंद्रों में रखा जा रहा है। जो लोग वर्तमान में शिक्षण संस्थानों में बने क्वारंटाइन केंद्रों में हैं, उनके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं और रिपोर्ट नेगेटिव होने पर न्यूनतम सात दिन के बाद उन्हें संस्थागत क्वारंटाइन से शेष दिनों के लिए होम क्वारंटाइन में भेजा जाएगा।

6700 ने पूरा किया 14 दिन का क्वारंटाइन

बीते एक महीने में बाहरी राज्यों से 10 हजार व्यक्ति मंडी जिला लौटे हैं। इनमें से 6700 लोगों ने 14 दिन की अपनी क्वारंटाइन अवधि पूरी कर ली है। अन्य भी जो लोग होम अथवा संस्थागत क्वारंटाइन में हैं, जैसे ही 14 दिन की अवधि पूरी कर रहे हैं, वे क्वारंटाइन से मुक्त हो रहे हैं।