Sunday, November 17, 2019 03:24 PM

मुख्यमंत्री जी! 200 घंटे से बंद है एनएच-707

प्रदेश में बारिश-बर्फबारी में भी इतना लंबे समय तक नहीं रहा कोई एनएच बंद; गिरिपार के लोगों की नहीं ली जा रही सुध

पांवटा साहिब - मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी यदि उपचुनाव के प्रचार से फुर्सत मिल गई हो तो गिरिपार के लोगों की मुसीबत की तरफ भी ध्यान दीजिए। यहां गिरिपार को जोड़ने वाले एकमात्र एनएच पिछले 200 घंटे से बंद है। एनएच आठ दिनों से बंद है और सरकार सुध नहीं ले रही है। यह शब्द अब गिरिपार क्षेत्र की जनता के मुंह से आम सुने जा सकते हैं। लोगों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है और यदि समय रहते सरकार ने एनएच बहाली के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए तो वह दिन दूर नहीं जब गिरिपार क्षेत्र के लोग सरकार की खिलाफत में उतर जाएंगे। जानकारी के मुताबिक गत रविवार को बद्रीपुर-गुम्मा एनएच-707 कच्ची ढांग के पास धंसने से बंद हो गया था। आठ दिन गुजर जाने के बाद भी एनएच प्राधिकरण मार्ग को चालू नहीं कर पाया है। लोगों का कहना है कि प्रदेश के ऊपरी इलाकों में भारी बर्फबारी और बारिश के कारण बंद हुई सड़कें भी कभी आठ दिन तक बंद नहीं रही होंगी, लेकिन सिरमौर के गिरिपार क्षेत्र के लोगों के लिए एकमात्र उपयुक्त एनएच पिछले 200 घंटों से बंद पड़ा हुआ है। यदि सरकार चाहती तो इस सड़क को बहाल करने का कार्य युद्ध स्तर पर सेना से भी करवाया जा सकता था, लेकिन गिरिपार के लोगों की आपदा सरकार को शायद कोई बड़ी आपदा नहीं लग रही है तभी तो कथित पुरानी मशीनों से एनएच बहाली का कछुआ गति से कार्य चल रहा है। इससे दिन प्रतिदिन क्षेत्र के लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। उधर रविवार को मौके पर पहुंचे शिलाई के विधायक हर्षवर्धन चौहान ने भी प्रदेश सरकार की नीयत पर सवाल खड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि सरकार यहां पर चाहती तो नई और हाईटेक मशीनरी लाकर सड़क को बहाल करवा सकती थी, लेकिन ऐसा लगता है कि शिलाई के भाजपा नेता शिलाई की जनता को जान-बूझकर परेशान करना चाहती है तभी तो कछुआ गति से कार्य किया जा रहा है। उधर रविवार को भी वैकल्पिक मार्ग पर नदी के रास्ते पर यातायात करीब चार घंटे तक बंद रहा। यहां पर अस्थाई पुल बनाने के कारण पानी का बहाव दूसरी ओर मुड़ गया था जिससे वाहनों की आवाजाही रूक गई थी। यानि क्षेत्र के लोगों को रोजाना कोई न कोई परेशानी खड़ी हो रही है, लेकिन सरकार है कि जागने का नाम नहीं ले रही है। गौर हो कि बद्रीपुर-गुम्मा नेशनल हाई-वे 707 का 200 मीटर हिस्सा बीते छह अक्तूबर को धंस गया था, जिसके बाद से गिरिपार क्षेत्र की 60 से अधिक पंचायतों के लाखों लोग सड़क संकट से जूझ रहे हैं। एक सप्ताह तक शिलाई क्षेत्र का कोई नेता या सरकार का कोई नुमाइंदा मौके पर भी नहीं पहुंचा जिससे युवा वर्ग में खासा रोष पनपा है। युवाओं ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्से का गुब्बार जमकर निकाला और नेताओं को कोसते दिखे। वहीं, एनएच प्राधिकरण के अधिशाषी अभियंता अनिल शर्मा ने बताया कि एनएच बहाली की कोशिश जारी है।