Monday, October 21, 2019 07:39 AM

मेगा मॉक ड्रिन को हलके में न लें अधिकारी

नूरपुर —आपदा प्रबंधन के तहत 11 जुलाई को आयोजित किए जाने वाले मेगा मॉक शो की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।  यह जानकारी एसडीएम नूरपुर डा. सुरेंद्र ठाकुर ने सभी विभागीय अधिकारियों के साथ तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक में दी। गौरतलब है कि एसडीएम की अध्यक्षता में गत आठ जुलाई को भी अधिकारियों के साथ इस मॉक ड्रिल के तैयारियों को लेकर पहली बैठक आयोजित की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि इस मेगा मॉक शो के लिए स्थानीय चौगान मैदान को स्टेजिंग एरिया बनाया गया है।  उन्होंने बताया कि इस स्टेजिंग  एरिया से आपदा प्रबंधन के तहत घटित  समस्त घटनाओं की कार्रवाई का समस्त संचालन किया जाएगा। इस मेगा शो के लिए एसडीएम को इंसिडेंट कमांडर बनाया गया है,  जिनकी देखरेख में  प्रक्रिया का समस्त संचालन  किया जाएगा।  एसडीएम  ने बताया कि इस मेगा मॉक ड्रिल का मुख्य उद्देश्य विभिन्न एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल, सहयोग तथा क्षमता का आंकलन करने के साथ-साथ लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस मॉक ड्रिल को हल्के में न लें तथा आपदा प्रबंधन के तहत तैयार किए गए विभागीय प्लान के आधार पर राहत तथा पुनर्वास का मॉक अभ्यास करना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर घटना प्रतिक्रिया प्रणाली आईआरएस विकसित की गई है,  जिसमें आपदा के दौरान बेहतर तरीके से आपसी समन्वय के साथ कार्य करने की योजना तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन में सभी विभागों के लिए जो अलग-अलग कार्य चिन्हित किए गए हैंए उन्हें उसी के आधार पर मेगा शो में पूरी तैयारी के साथ कार्य करना सुनिश्चित बनाना है। उन्होंने सभी  विभागों को  आपस में समन्वय स्थापित कर बेहतर तालमेल से एक-दूसरे को सहयोग प्रदान कर अपने-अपने दायित्व को पूरा करने के भी निर्देश दिए।  एसडीएम ने कहा कि कांगड़ा जिला आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील क्षेत्र में आता है।  उन्होंने कहा कि किसी भी प्राकृतिक आपदा को टाला नहीं जा सकता, लेकिन बेहतर प्रबंधन,  पूर्ण तैयारियों तथा आपसी विभागीय तालमेल तथा जागरूकता से इससे  होने वाले नुकसान को काफी हद तक कम किया जा सकता है। उन्होंने अधिकारियों से आपदा प्रबंधन को लेकर लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता पर बल दिया, ताकि वे इस दौरान भयभीत न हों। इस अवसर पर बीडीओ ओपी ठाकुर व एनडीआरएफ के निरीक्षक मनोज भारद्वाज सहित पुलिस, होमगार्ड व विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।