Monday, July 13, 2020 09:36 AM

मेडिकली फिट हैं, तभी पहुंच पाएंगे लाहुल-स्पीति

केलांग - जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के लिए हो रही हवाई उड़ानों की सुविधा अब उन्हीं यात्रियों को मिल पाएगी, जो मेडिकल फिट होंगे। कोरोना वायरस के खतरे को ध्यान में रखकर उड़ान समिति ने यह निर्णय लिया है। उड़ान समिति के प्रभारी अशोक कुमार का कहना है कि प्रदेश सरकार के आदेशों के तहत यह निर्णय लिया गया है कि जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के लिए उन्हीं यात्रियों को घाटी में अब भेजा जाएगा, जो मेडिकल फिट होंगे। लाहुल जाने वाले यात्रियों को उड़ान समिति के कार्यालय में अपना मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट जमा करवाना होगा, साथ ही इस बात का प्रमाणपत्र भी देना होगा कि वह पिछले कुछ दिनों में देश से बाहर नहीं गए हैं। उक्त दोनों दस्तावेज उड़ान समिति के कार्यालय में जमा करवाने के बाद ही यात्रियों को लाहुल भेजा जाएगा। उड़ान समिति ने एक व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया है, जिसमें यात्रियों को उक्त दस्तावेज भेजने होंगे। उड़ान समिति के प्रभारी आशोक कुमार ने बताया कि इसके अलावा भुंतर हवाई अड्डे पर वही यात्री पहुंचेंगे, जिनका नाम हेलिकाप्टर की उड़ान के यात्रियों की लिस्ट में होगा। उन्होंने बताया कि जब तक यात्रियों द्वारा मेडिकल फिट होने का प्रमाणपत्र नहीं जमा करवाया जाएगा,े तब तक किसी भी व्यक्ति को लाहुल नहीं भेजा जाएगा। उल्लेखनीय है कि जनजातीय जिला लाहुल में पहुंचने के लिए जहां प्रदेश सरकार का हेलिकाप्टर ही एकमात्र साधन इन दिनों है, वहीं देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के खतरे को भांपते हुए उड़ान समिति ने भी कुछ एहतियातन नए कदम उठाए हैं। इसके तहत यात्रियों को मेडिकल फिट होना जरूरी है। कोरोना वायरस की जांच के बाद ही यात्रियों को हेलिकाप्टर के माध्यम से लाहुल भेजा जाएगा।