Thursday, December 12, 2019 03:06 PM

मोहन शक्ति हेरिटेज पार्क पर फिदा हुए शांता कुमार

कहा, अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखा इतना खूबसूरत पार्क; बोले, सड़क मार्ग से हूं निराश, मुख्यमंत्री से करूंगा बात

सोलन -बढ़ती जनसंख्या, घटते संसाधन विषय पर आयोजित संगोष्ठी में सोलन पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार मोहन शक्ति हेरिजेट पार्क पर फिदा हुए। उन्होंने कहा कि ऐसा पार्क आज तक नहीं देखा। तारीफ करते हुए शांता कुमार ने कहा कि उत्तरी भारत का यह एक अद्भुत, अलौकिक एवं आध्यात्मिक पार्क है।  वे ही नहीं उनकी धर्मपत्नी भी इससे काफी प्रभावित हुईं। शांता कुमार ने कहा कि इसको बनाने के पीछे जिसकी भी सोच रही होगी, वह अकल्पनीय है और काफी सोच विचार एवं विद्वानों से बातचीत के बाद ही मोहन शक्ति हेरिटेज पार्क का निर्माण कार्य किया होगा। शांता कुमार ने कहा कि उन्होंने अपनी जिंदगी में अनेक मंदिर एवं पार्क देखे, पर मोहन शक्ति नेशनल पार्क जैसा पार्क कहीं नहीं है। दिल्ली के अक्षर धाम से तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि उसका महत्त्व एवं सुंदरता अपनी जगह है, लेकिन जहां पर मोहन शक्ति नेशनल पार्क बनाया गया है उसके इर्द-गिर्द जो प्राकृतिक छठा है, उसकी कल्पना नहीं की जा सकती। इस पार्क के लिए उन्होंने संस्थापक स्व. कपिल मोहन की सोच की सराहना की। शांता कुमार ने इस बात का दुख जताया कि हिमाचल में रहते हुए भी वह ऐसे अविस्मरणीय दृश्य से अनभिज्ञय थे। उन्होंने कहा कि जितना सुखद अनुभव उन्हें वहां मिला, उतनी ही निराशा वहां पहुंचने से पूर्व मिली। क्योंकि वहां जाने के लिए रोड की हालत सही नहीं है।  उन्होंने कहा कि इस विषय पर जरूर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बात करूंगा, कि मंदिर पहुंचने के लिए उचित सड़क की व्यवस्था की जाए और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए जगह-जगह साइन बोर्ड लगाए जाए। उन्होंने कहा कि यदि पर्यटन की दृष्टि से पार्क का सही मायने में प्रचार-प्रसार हो तो कांगड़ा के मंदिरों में जुटने वाली भीड़ भी यहां का रुख करेगी।