Thursday, December 03, 2020 12:26 AM

मौसम केंद्र का काम शुरू

ओसन में लॉकडाउन के कारण रुका था कार्य, मौसम की सटीक सूचना मिलेगी

भुंतर-जिला कुल्लू की दियार पंचायत के ओसन में लगने वाले ऑटोमेटिक मौसम केंद्र को स्थापित करने का कार्य आरंभ कर दिया गया है। मार्च में बनने वाले इस मौसम केंद्र का कार्य लॉकडाउन के कारण प्रभावित हो गया था, लेकिन अब इसका कार्य फिर से आरंभ कर दिया गया है। उक्त मौसम केंद्र को स्थापित करने वाली एजेंसी कासा के अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही इसका कार्य पूरा कर दिया जाएगा। बता दें कि उक्त मौसम केंद्र को राष्ट्रीय स्तर के सामाजिक संस्थान कासा ट्रस्ट द्वारा स्थापित किया जा रहा है तो मौसम केंद्र शिमला और जिला कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से मौसम केंद्र की भविष्यवाणी किसानों और आम लोगों तक पहुंचाई जाएगी। कासा के अधिकारी सुरेश सतपति ने बताया कि उक्त मौसम केंद्र को क्लाइमेट फार्मर स्कूल योजना के तहत लगाया जा रहा है। इसके अलावा मौसम भविष्यवाणी की कृषि बागबानी में भूमिका के बारे में भी किसानों को कृषि विभाग, कृषि विज्ञान केंद्र और मौसम विभाग के साथ मिलकर जागरूक किया जाएगा। बता दें कि प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर अभी तक मैनुअल मौसम केंद्र ही स्थापित किए जाते रहे हैं, लेकिन उक्त स्वचालित केंद्र अपने स्तर पर कार्य करेगा। संबंधित संस्था के नुमाइंदों की मानें तो उक्त केंद्र का डाटा पहले चरण में कुछ पंचायतों के ग्रामीणों के साथ भी सीधे तौर पर साझा किया जाएगा और इसके बाद विभाग और केवीके के जरिए सभी किसानों तक इसका डाटा साझा किया जाएगा।  मौसम केंद्र में थर्मोमीटर, रेन गॉज, हाईग्रोमीटर, विंडवेन, एनीमोमीटर, सनशाइन रिकार्डर, बैरोमीटर, सॉयल पीएच व नमी टेस्टर जैसे उपकरण लगेंगे, जिनके जरिए मौसम की भविष्यवाणी दी जाएगी। केंद्र को स्थापित करने का कार्य मार्च में आरंभ किया गया था लेकिन लॉकडाउन लगने के कारण इसे बीच में ही रोकना पड़ा था। अब फिर से इसका कार्य किया जा रहा है। बहरहाल, जल्द ही इस केंद्र के माध्यम से भी लोगों को मौसम की भविष्यवाणी मिलेगी।