Friday, February 21, 2020 12:19 PM

यहां नहीं…वहां नहीं, तो कहां खड़ा करें पोल

कांगड़ा -विद्युत बोर्ड के कर्मचारियों को ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के पोल लगाने को लेकर मुसीबत खड़ी हो गई है । लोगों का सहयोग न मिलने के कारण काम में दिक्कत आ रही है। लोग विद्युत व्यवस्था तो यहां बेहतर चाहते हैं , लेकिन जब पोल लगाने की बात आती है, तो मुश्किलें खड़ी कर रहे हंै। अब बोर्ड के कर्मचारी कहते हैं कि अगर वहां लगाने के लिए भूमि उपलब्ध नहीं होगी तो क्या पोल हवा में खड़े किए जाएंगे। नंदरूल, खैरकड़, खरठ,  राजल, ठेढा, मैरा, चकवन पठियार, घुमारकड़, सत्थ, भारथा, सिरमनी,  दलीच्चु, झुरडू, पठियार, सिंवलू,  गोवरनंद, मरहूं, वालिया महोल्ला नंदरूल व वोहडकवालू में  विद्युत व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए करीब 55 पोल  यहां लगाए जाने हैं , लेकिन महकमे  को लोग भूमि मुहैया नहीं करवा रहे हैं ।  यही नहीं, सड़क के किनारे भी पोल लगाने पर भी कुछ ग्रामीणों को आपत्ति है। उल्लेखनीय है कि इन गांव  में  विवाह समारोह होने पर बिजली की वोल्टेज कम हो जाती है । आम दिनों में भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दीगर है यहां उनकी परेशानी बढ़ रही है । माना जाता है कि अगर पोल लगेंगे , तो आने वाले समय में लघु उद्योग लगाने वालों को भी यहां दिक्कत नहीं आएगी । मौजूदा समय में लंबी पीवीसी की तारंे यहां बिजली मुहैया करवाने के लिए लगाई गई हैं । अब यहां व्यवस्था को सुधारने के लिए विद्युत महकमे ने मुहिम छेड़ी है, तो लोगों का साथ न मिलने की वजह से  महकमे  की मुश्किलें बढ़ गई हैं । विद्युत बोर्ड के अतिरिक्त सहायक अभियंता नंदरूल इंजीनियर चंद्रभूषण मिश्रा का कहना है कि लोग पोल लगाने के लिए भूमि उपलब्ध नहीं करवा रहे हैं और कुछ स्थानों पर तो लोग सड़क किनारे भी पोल लगाने में अड़चन पैदा कर रहे हैं । श्री मिश्रा कहते हैं कि अगर यहां पर पोल लग जाएं, तो विद्युत व्यवस्था सुधरेगी। उनका कहना है कि अगर लोगों को बिजली चाहिए, तो पोल तो लगाने ही पड़ेंगे इसके लिए लोगों को सहयोग करना चाहिए।