Saturday, April 20, 2019 01:44 PM

यह काजल नहीं, मेरा चुनाव है

धर्मशाला में वीरभद्र सिंह ने कांग्रेस प्रत्याशी के लिए मांगा समर्थन

धर्मशाला    —पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता वीरभद्र सिंह ने सोमवार को धर्मशाला में कहा कि पवन काजल में जोश भी है और होश भी है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव काजल का नहीं उनका अपना चुनाव है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशी और काजल में रात-दिन का फर्क है। तराजू में तोला जाए तो काजल भारी पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने आप को सर्वोपरि समझते हैं, लेकिन लोकसभा चुनावों के नतीजे सबको हैरान करने वाले होंगे। उन्होंने कहा कि वह मात्र 25 साल की आयु में वह लोकसभा के सदस्य बन गए थे और  राजनीति को अच्छे से समझते हैं। उन्होंने पूरे हिमाचल को गांव तक जाकर देखा है। सेवाभाव से काम करने वाले व्यक्ति को ही लोकसभा का सदस्य बनाना चाहिए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कहते हैं कि वीरभद्र सिंह ने बहुत स्कूल खोले हैं, लेकिन वह उन्हें चला नहीं पा रहे हैं।  पूर्व मुख्यमंत्री ने एक बार फिर से क्रिकेट स्टेडियम को लेकर सियासी हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा ने क्त्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिए शिक्षा विभाग, एग्रीकल्चर आदि विभागों की जमीनों को जबरदस्ती लिया है। धर्मशाला, अमतर और लालपानी सहित कई स्थानों पर भाजपा सरकार के दौरान क्रिकेट एसोसिएशन ने सरकारी भूमि को एसोसिएशन के नाम किया है। इस दौरान भाजपा ने सरेआम सत्ता का दुरुपयोग किया। वीरभद्र सिंह ने कहा कि भाजपा ने किशन कपूर को मंत्रिमंडल से हटाने के लिए उन्हें चुनाव चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सोमवार को धर्मशाला के होटल ट्रांस में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती के बयान की निंदा करते हुए कहा पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ती गंभीर व्यक्ति नहीं है।