Monday, November 18, 2019 05:11 AM

ये दाग अच्छे नहीं

शशि पराशर, बैजनाथ

संत कबीर ने शिक्षक को भगवान से भी ऊंचा माना है। देवभूमि हिमाचल में भी अन्य राज्यों की तरह मुट्ठी भर शिक्षक, अपनी मानसिक विकृति के कारण शिक्षा जगत में दाग लगाने में लगे हैं। यह चंद शिक्षक छेड़छाड़, बलात्कार तथा भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण समस्त शिक्षा जगत के दामन पर दाग लगाने के लिए जिम्मेदार हैं। अब तो शिक्षक भी रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार हो रहे हैं। शिक्षा जगत मेंयह दाग मुट्ठी भर शिक्षक लगा रहे हैं तथा समस्त शिक्षा जगत बदनाम हो रहा है। कैसे इन मुट्ठी भर शिक्षकों को समझाया जाए कि ये दाग अच्छे नहीं।