Monday, December 16, 2019 05:57 AM

रक्षाबंधन… घेवर की खुशबू से महका बिलासपुर

पनीर की जलेबी-चॉकलेट घेवर-बादाम-पिस्ता-केसर-रोज की बढ़ी डिमांड, दुकानों में सजीं रंग-बिरंगी राखियां

बिलासपुर -रक्षा बंधन व स्वतंत्रता दिवस के मौके बिलासपुर जिला की दुकानें तिरंगा झंडा व मिठाइयों से सज गई हैं। वैसे तो इस दिन जलेबी की मांग ज्यादा होती है, लेकिन इस बार घेवर मिठाई की खुशबू लोगों को अपनी ओर ज्यादा आकर्षित कर रही है। मिठाई की दुकानों पर घेवर की बिक्री बढ़ चुकी है। बाजार में चॉकलेट से लेकर शुगर फ्री घेवर तक की वैरायटी मौजूद है। बाजार में कई लेवर्स में घेवर मिल रहा है। इसमें सादा व मलाई घेवर के साथ चॉकलेट घेवर, बादाम, पिस्ता, केसर, रोज, मैंगो घेवर जैसी कई स्वादिष्ट वैरायटी तैयारी की जा रही हैं। साथ ही रक्षाबंधन तक कई नए लेवर्स को लोगों के लिए तैयार करने की प्लानिंग जारी है। ज्ञान स्वीट्स घुमारवीं के एमडी सतीश कुमार मेहता ने बताया कि इस समय घेवर बनाने की एक प्रमुख वजह यह है कि इस सीजन में नमी होती है, जिससे घेवर को मुलायम रखने में मद्द मिलती है। यही स्वाद लोगों को सबसे ज्यादा पसंद आता है। हालांकि पिछले कुछ समय से चलन बदला है। विभिन्न लेवर्स की अलग-अलग कीमत है। सतीश कुमार मेहता ने बताया कि सबसे ज्यादा मलाई घेवर पसंद किया जाता है। जबकि बाहर भेजने के लिए ड्राई घेवर को प्राथमिकता दी जाती है। क्योंकि क्रीम वाला घेवर ज्यादा से ज्यादा दो दिन तक ही चलता है, जबकि सादा घेवर कई दिनों बाद भी खाया जा सकता है। बहरहाल सावन में लोगों की पसंद को ध्यान में रखकर बाजार भी त्योहारी सीजन के लिए तैयार है। वहीं, पनीर की जलेबी भी बाजार में धाक जमाए हुए है। इस बार ड्राई मिठाइयों की मांग अधिक हो रही है। वहीं, राखी की दुकानों पर पर भी भीड़ बढ़ गई है। बहनें अपने भाइयों की कलाइयों पर राखी बांधने के लिए राखियों की खरीददारी कर रहीं है। इसके साथ ही मिष्ठान की भी खरीददारी की जा रही है। इसके अलावा भाइयों ने भी बहनों को उपहार देने के लिए गिफ्ट की खरीददारी शुरू कर दी है। रक्षाबंधन पर्व पर मिठाइयों की मांग बढ़ गई है। ऐसे में शुद्ध मिठाइयां महंगी हो गईं हैं। दुकानें रंग-बिरंगी राखियों से सजी हुई हैं। बाजारों में राखी की थाल सजाने के लिए छोटे-छोटे नारियल, रोली चंदन, दीपक भी पैकिंग में मिल रहा है। दो रंग के लिफाफे भी बाजारों में उपलब्ध हैं। जिसके ऊपर लिखा है बहना भेज रही हैं प्यार के डोर। इसके अलावा पोस्ट आफिस में वाटर प्रूफ लिफाफा भी मिल रहा है।

स्वतंत्रता दिवस मनाने को शहर तैयार

स्वतंत्रता दिवस के पर्व पर धूमधाम से मनाने की पूरा जिला तैयार हो गया है। बच्चों की जहां झंडे की दुकानों पर भीड़ लगी रही। वहीं, विभिन्न संस्थाओं के आयोजकों की भीड़ मिठाइयों पर देखी जा रही है। वहीं, जिले में स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां जोर शोर से जारी रहीं। जिला की सुरक्षा व्यवस्था को भी चुस्त दुरुस्त किया गया है।

प्लास्टिक के झंडों पर बच्चे फिदा

बच्चे सबसे ज्यादा प्लास्टिक के झंडे खरीद रहे हैं। पॉकेट पर लगाने वाले तिरंगा स्टीकर भी बच्चे खरीद रहे हैं। लड़कियां कलाई पर बांधने के लिए तिरंगा पट्टी और बाल के लिए रिबन की खरीदारी कर रही हैं। रेशम के कपड़े के चमकदार रिबन ज्यादा बिक रहे हैं। वहीं, राखी की दुकानों पर भी बिक्री बढ़ गई है। बहनों को देने के लिए गिफ्ट की दुकानों पर भी भीड़ लग रही है।

19 साल बाद बनेगा 15 अगस्त और रक्षाबंधन कर योग

बताया जा रहा है कि स्वतंत्रता दिवस के साथ रक्षा का बंधन पर्व 19 साल पहले 2000 में मनाया गया था। इसके बाद अब जाकर यह संयोग दोबारा एक साथ बना है। रक्षाबंधन हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है, जो इस साल 15 अगस्त गुरुवार को है। वहीं, रक्षाबंधन का त्योहार गुरुवार को होने से इसका महत्त्व और बढ़ गया है।