राज्यपाल की पहल को अंजाम तक पहुंचाएंगे

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बोले, राज्य में वरदान साबित होगी प्राकृतिक खेती

शिमला  - राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने प्रदेश के युवाओं का आह्वान किया कि नशे की प्रवृत्ति को त्याग कर प्रदेश और स्वयं के निर्माण में भागीदार बनें और स्वयं को राष्ट्र सेवा के लिए समर्पित करें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्यपाल ने राष्ट्रहित और जनहित के मुद्दों पर आम जनता से सीधा संवाद स्थापित किया है। उन्होंने इन विषयों के प्रति आम व्यक्ति को जागरूक किया और प्रदेश के आर्थिक और सामाजिक विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान किया। राज्यपाल ने जो भी समाज कल्याण और प्रदेश के विकास के मुद्दे उठाए हैं, उन्हें सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा और उन्हें पुरजोर तरीके से लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक खेती प्रदेश के विकास के लिए महत्त्वपूर्ण विषय है, जिसमें किसानों और बागबानों ने गहन रुचि दिखाई है। किसानों की आय और समृद्धि के लिए प्राकृतिक खेती वरदान साबित होगी। इस महत्त्वपूर्ण विषय को पूरी तत्परता के साथ आगे बढ़ाया जाएगा। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर ने राज्यपाल द्वारा प्रदेश के आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र में किए गए कार्यों पर प्रकाश डाला और कहा कि इन कार्यों से प्रदेश को नई दिशा मिलेगी। राजभवन में आयोजित विदाई समारोह में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, विभिन्न राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, सिविल और सैन्य अधिकारियों ने भावभीनी विदाई दी। इस अवसर पर आचार्य देवव्रत ने कहा कि उन्हें पिछले लगभग चार वर्ष के कार्यकाल में मुख्यमंत्री, मंत्रिमंडल के सदस्यों, पक्ष और विपक्ष और आम जनता से भरपूर सहयोग और समर्थन प्राप्त हुआ। इसके लिए उन्होंने सभी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों के सहयोग से जन कल्याण का उनका मिशन सफल हो सका। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया है कि जन कल्याण के यह कार्य निरंतर चलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश जयराम ठाकुर के नेतृत्व में सही दिशा में आगे बढ़ रहा है और उनकी युवा सोच और विकास के प्रति लगन से प्रदेश विकास के नए लक्ष्यों को हासिल करेगा।

Related Stories: