Monday, October 21, 2019 08:19 AM

राज्य स्तरीय रारंग गुरु सांज्ञस मेले का आगाज

रिकांगपिओ —अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी पूह एवं अध्यक्ष राज्य स्तरीय रारंग गुरू सांज्ञस मेला समिति अश्वनी कुमार ने पांच दिवसीय राज्य स्तरीय रांरग गुरू सांज्ञस मेले का ध्वजारोहन व दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्हांेने कहा कि बडे़ हर्ष का विषय है कि हम आज गुरू पदमसंभव की जन्म तिथि मना रहे हैं। आठवीं शताब्दी में वह एक महान आचार्य बने थे और उन्होंने बौद्ध धर्म का प्रचार व प्रसार किया। आज के समय में हिमाचल प्रदेश के सभी क्षेत्रों में बौद्ध धर्म का अस्तिव है जोकि गुरू पदमसंभव के प्रयासां का ही फल है । उन्होंने कहा कि मेले व त्यौहार हमारी समृद्ध संस्कृति के प्रतीक है और हमारी सांस्कृतिक विरासत भी है। ऐसे मेलो एवं  त्यौहारों के माध्यम से हम अपनी पारंपरिक संस्कृति एवं रीतिरिवाजों को संरक्षित करते हैं और अपनी संस्कृति से देश व दुनिया को भी अवगत करवाते हैं। इसी के कारण ही हमारी संस्कृति का संरक्षण व संवर्धन भी होता  है। उन्होंने कहा कि रांरग गुरू सांज्ञस मेले का इतिहास बहुत ही पुराना है। वर्ष 2010 में इस मेले को जिला स्तरीय मेले का दर्जा दिया गया था जिस के बाद वर्ष 2018 में इस मेले को राज्य स्तरीय मेला घोषित किया गया। उन्होंने कहा कि इस मेले की प्रासंगिकता सिर्फ  यही नहीं है कि हम गुरू पदमसंभव की जन्म तिथि को मना रहे है बल्कि इस की बडी प्रासंगिकता यह भी है कि किन्नौर की जो संस्कृति है वह अपने आप में एक बहुत बड़ी समृद्ध संस्कृति है। किन्नौर की संस्कृति न केवल देश बल्कि विदेशो में भी इस संस्कृति की अपनी अलग पहचान है। इस अवसर पर छोएगुन रिंनपोछे विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इस से पूर्व उन्होंने मंगलाचरण जाप का उच्चारण किया तथा उपस्थित जन समूह ने भी उनके द्वारा किए गए जाप का अनुसरण किया। इस दौरान प्रधान ग्राम पंचायत रारंग रेखा ने मुख्य अतिथियों का स्वागत किया। इस दौरान नायब तहसीलदार मूरंग एवं सदस्य सचिव राज्य स्तरीय रारंग गुरू सांज्ञस ब्रिज लाल ठाकुर ने मुख्यातिथियों को समृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित  किया। इस अवसर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाल रारंग के बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत करने के साथ स्थानीय महिलाओं द्वारा पारंपरिक वेष-भूषा में किन्नौर की समृद्व संस्कृति को दर्शाते हुए पुराने समय में किए जाने वाले विभिन्न प्रकार के कार्या पर आधारित झांकियां भी निकाली।