Saturday, January 25, 2020 11:35 PM

राफेल पर तैनात होंगी मिटिऑर मिसाइलें

नई दिल्ली-भारत ने अगले साल मई में आने वाले चार राफेल लड़ाकू विमानों पर फ्रांस से मिटिऑर मिसाइलें जरूर तैनात करने को कहा है। हवा से हवा में मार करने वाली ये मिसाइलें 120 से 150 किलोमीटर की दूरी तक लक्ष्य को भेद सकती हैं। यह मिसाइल इतनी मारक है कि इसे ‘नो स्केप’ भी कहा जाता है। राफेल में इस मिसाइल की तैनाती से भारत अपने प्रतिद्वंद्वी देशों पाकिस्तान और चीन के मुकाबले हवाई जंग में निर्णायक बढ़त हासिल कर सकेगा। इसके जरिए भारत के लिए किसी भी हमले को नेस्तनाबूद करने की क्षमता हासिल हो सकेगी।

मिसाइल की खूबियां...

- यह मिसाइल पाकिस्तान की आईएएम-120सी को पछाड़ देगी, जिसकी क्षमता 100 किलोमीटर दूरी तक लक्ष्य भेदने की है। पाकिस्तान ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय सीमा में भेजे अपने एफ-16 जेट पर इसी मिसाइल का इस्तेमाल किया था।

- मिटिऑर मिसाइलों को बीवीआर यानी बियॉन्ड विजुअल रेंड मिसाइल भी कहा जाता है। पहले यह 2020 के अंत तक आने वाली थीं, लेकिन भारत ने फ्रांस से इन्हें मई, 2020 में चार राफेल जेट के साथ ही सौंपने को कहा है।

- यह बियॉन्ड विजुअल रेंज एयर-टू-एयर मिसाइलों की अगली जनरेशन के तौर पर तैयार की गई है। इसे अब तक की सबसे आधुनिक और मारक मिसाइलों में से एक माना जाता है।

- यह मिसाइल किसी भी मौसम में और किसी भी तरह के लक्ष्य को भेदने में सक्षम है। 190 किलोग्राम वजन और 3.7 मीटर लंबी यह मिसाइल एडवांस राडार सिस्टम से लैस है।