Monday, April 06, 2020 05:03 PM

रामपुर में बिगडै़ल चालकों पर पुलिस का शिकंजा

रामपुर बुशहर-कोरोना के खौफ से लोग घरों में नजरबंद हो गए हैं। भले ही कर्फ्यू रविवार को था लेकिन सोमवार को भी रामपुर में कर्फ्यू जैसी स्थिति देखने को मिली। बहुत कम लोग घरों से निकले। लेकिन सड़कों में वाहनों की आवाजाही सुबह के समय काफी अधिक रही। सरकार ने भले ही कामर्शियल वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा रखी है लेकिन रामपुर में कामर्शियल वाहन भी सड़कों पर दौड़ते दिखे, जिन्हें पुलिस थाने के बाहर पुलिस ने रोका और सरकारी नियमों की उल्लंघन पर चालान काटे। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों से बसों की आवाजाही बंद होने से लोग रामपुर नहीं आए। लेकिन लोग अब खुद को बाजार और भीड़ वाली जगह से दूरी बनाए रखने में ही समझदारी समझ रहे है। दोपहर बाद जैसे ही सरकारी आदेश आए कि अगले आदेशों तक हिमाचल लॉकडाउन रहेगा तो लोग अपनी जरूरत की वस्तुओं को खरीदने बाजार की तरफ दौड़े। वहीं, एसडीएम कार्यालय में अधिकारियों से इस वक्त की स्थिति से निपटने के लिए बैठक की गई। जिसमें खंड विकास अधिकारी, आईपीएच, लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता व एसजेवीएन के डाक्टर उपस्थित रहे। सभी ने चर्चा की कि इस समय क्या-क्या एहतियात बरतने चाहिए।

प्रशासन ने क्या कदम उठाए, मीडिया को नहीं दी जानकारी

प्रशासन की तरफ से सोमवार को भले ही बैठकों का दौर जारी रहा लेकिन कोरोना वायरस से संबंधित जो भी बैठकें की गई, प्रशासन उनमें मीडिया को बुलाना भूल गया। ऐसे में सवाल ये है कि जब प्रशासन मीडिया को ही इस बात की जानकारी नहीं देगा कि इस स्थिति से निपटने के लिए वह क्या-क्या कदम उठा रहा है तो आम आदमी को इस बात की जानकारी कैसे लगेगी यह एक बड़ा सवाल है।