Wednesday, July 17, 2019 08:20 PM

रिकांगपिओ में काटा केक

रिकांगपिओ—छोसखोरलिंग बौद्ध सेवा संघ रिकांगपिओ द्वारा बौद्ध धर्म गुरु परम पावन दलाइलामा का 84वां जन्मदिन रिकांगपिओ स्थित बौद्ध संग परिसर में बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान कार्यक्रम के मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे किन्नौर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष उमेश नेगी सहित बौद्ध धर्म गुरु परम पावन लोचन टुलकु रिंपोछे ने संयुक्त रूप से केक काट के परम पावन दलाइलामा का 84वां जन्मदिन मनाया। इस दौरान विशेष अतिथि के रूप में सीता राम नेगी सहित डा. सूर्य बोरस तथा अनेक बौद्ध लामाओं सहित स्थानित लोग भी उपस्थित थे।  परम पावन दलाइलामा के 84वें जन्म दिन पर आयोजत समारोह के दौरान बौद्ध लामो द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत मंगलोचरन से की। इस दौरान मुख्यातिथि उमेश नेगी ने कहा कि पूरे विश्व को मानवता व आध्यात्मिक्ता का संदेश देने वाले परम पावन दलाइलामा में अपना जीवन विश्व शांति व लोगों को अध्यात्मिकता का संदेश देने में ही न्यौछावर किया है। उन्हें विश्व शांति पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने हमेशा ही लोगों को दया करुणा की भावना पैदा करने की सीख दी है। इस दौरान मुख्यातिथि उमेश नेगी ने बौद्ध धर्म गुरु परम पावन लोचेन टुलकु रिंपोछे जी को भी बौद्ध धर्म के एक महान विद्वान बताते हुए किन्नौर जिला के कई क्षेत्रों में बलि प्रथा पर रोक लगा कर लोगों को अहिंसा के मार्ग पर चलने के लिए महान काम  किया है। इस दौरान श्री नेगी ने किन्नौर में बौद्ध धर्म के प्रचार प्रसार के लिए किन्नौर के विधायक जगत सिंह नेगी द्वारा हर संभव सहायता प्रदान करने पर उन का भी धन्यवाद करते हुए कहा कि श्री नेगी ने किन्नौर जिला के ताशीगंग में स्थापित शताब्दियों पुराने बौद्ध मंदिर में लाइब्रेरी निर्माण के लिए दस लाख रुपए प्रदान किया है। इसी तरह सोमनग्स बौद्ध मंदिर में म्यूजियम स्थापित करने के लिए छह लाख रुपए देने के साथ इस वर्ष के अंत तक मंदिर तक सड़क बन कर तैयार हो जाएगा। इसी प्रकार शताब्दियों पुराने तिरासंग बौद्ध मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए भी श्री नेगी ने 32 लाख रुपए की सहायता राशी प्रदान की है। साथ ही तिरासंग बौद्ध मंदिर तक सड़क निर्माण के लिए भी बजट में प्रवदान कर दिया गया है। इस दौरान सभी लोगों ने परम् पावन दलाई लामा जी के दीर्धायु के लिए प्रार्थना भी की।  इस दौरान और भी कई कार्यक्रम आयोजित किए गए।