Wednesday, April 24, 2019 05:50 AM

रिकांगपिओ में पीडब्लयूडी पर उठे सवाल

रिकांगपिओ—जिला मुख्यालय रिकांगपिओ मे दो करोड़ 38 लाख रुपए की लागत से निर्मित मिनी स्टेडियम की दीवारें उद्घाटन के चंद महीनों बाद गिरनी शुरू ही गयी है। ठेकेदारी प्रथा के माध्यम से निर्माण हुए इस कार्य मे बारी विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। बता दे कि करोड़ो की लागत से निर्मित इस स्टेडियम का उद्घाटन पांच नवंबर 2018 को मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश जय राम ठाकुर द्वारा किया गया । उद्घाटन के बाद भी इस स्टेडियम का कुछ कार्य अभी होना बाकि है लिहाजा यह स्टेडियम अभी खेल विभाग की ट्रांसफर भी नही हुआ है। हैरानी की बात है कि उद्घाटन के चंद महीनों बाद ही स्टेडियम के आस्तित्व पर ही खतरा मंडराने लगा हैं । इस नवनिर्मित स्टेडियम की दीवारें एक तरफ गिरनी शुरू हो गयी है। स्टेडियम का अधिकांश भाग कभी भी धराशायी हो सकता है । जिला युवा सेवाए एवं खेल विभाग की ओर से भी इस बारे लोक निर्माण विभाग को पत्र लिखकर अवगत करवाया गया है लेकिन हेरानी की बात है कि लोक निर्माण विभाग ने इस दिशा में अब तक कोई पुख्ता कदम तक नहीं उठाया गया है। कई वर्षों से लटके इस स्टेडियम का ट्रंस्फर भी युवा सेवा एवं खेल विभाग को न होने से भी जिला के सैंकड़ो युवाओ को परेशानी का समान करना पड रहा है जो खेलो मे अपना केरियर तराश रहे है। खेल से जुडे कई युवाओ का कहना है कि इस स्टेडियम के निर्माण मे पहले तो पुलिस विभाग ए पशुपालन विभाग एवं लोक निर्माण विभाग के भूमि पर तीनो के मलिक होने से समस्या उत्पन हुई थी मगर फिर भी किसी तरह जिला खेल विभाग के नाम भूमि ट्रांसफर की गई। लेकिन अब स्टेडियम निर्माण होने के कगार पर पहुंच तो गया है लेकिन बारी अनियमिताएं सामने आने से यह स्टेडियम विवादों में आ गया है। किन्नौर कांग्रेस प्रवक्ता सूर्य बोर्स सहित क्षेत्र के कई जागरूक लोगो ने इस पूरे मानले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है ताकि जिस स्तर पर भी अनियमिताएं भर्ती गयी है उन लोगों के प्रति सकत कार्य वहीं हो सके।॒