Saturday, July 04, 2020 12:17 PM

रुकमणि कुंड में दो पुलिस जवान तैनात

लॉकडाउन में शिकायत के मिलने के बाद पुलिस ने लगाई ड्यूटी, जनप्रतिनिधि आए आगे

झंडूता-रूकमणि कुंड में लॉकडाउन के समय अनाधिकृत रूप नहाने आ रहे लोगों को रोकने के लिए हांलाकि शिकायत के बाद पुलिस ने दो जवानों की वहां पर ड्यूटी लगाई है। बावजूद इसके इस काम को रोकने के लिए जनप्रतिनिधि और ग्रामीण भी आगे आए हैं। रविवार को बाकायदा कमेटी का गठन जांगला पंचायत के प्रधान किशोरी लाल की अध्यक्षता में किया गया, जिसमें सर्वसम्मति से कमेटी का नाम मां रुकमणि कुंड सेवा समिति रखा गया तथा इसकी कमान अभिषेक चंदेल को सौंपी गई। किशोरी लाल व कुलदीप कुमार को संरक्षक बनाया, जबकि पवन ठाकुर को सचिव, राजकुमार चंदेल, नीलम चंदेल व तुलसी राम को उपाध्यक्ष, संजीव चंदेल, प्रभात चंदेल व राजेंद्र चंदेल को सह सचिव का दायित्व सौंपा गया। नवनियुक्त अध्यक्ष अभिषेक चंदेल ने बताया कि बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि जब तक हालात सामान्य नहीं हो जाते तब तक किसी को भी रूकमणि कुंड में नहाने की इजाजत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि यहां पर काफी दिनों से देखा जा रहा है कि कुछ लोग मौज मस्ती के लिए कुंड में दिन पर नहाने के लिए आते रहते हैं। जबकि इस समय पूरे देश में कोरोना महामारी फैली हुई है तथा कुछ लोग यहां पर नहाने के लिए आ रहे हैं।  उन्होंने बताया कि इस कुंड का पानी करीब 20 पंचायतों के लोग पीते हैं। वक्त के साथ संभावित खतरों को देखते हुए ऐहतियात जरूरी है। चंदेल ने कहा कि यूं तो निगरानी के तौर  पर कमेटी सदस्य भी पुलिस प्रशासन का सहयोग करेंगे। यदि कोई व्यक्ति यहां पर नहाता हुआ पाया जाता है या नियमों की अवहेलना करता हुआ पाया जाता है तो उसके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी और एक हजार रूपए जुर्माना मौके पर वसूला जाएगा। यही नहीं मंदिर कुंड के प्रवेश द्वार पर सूचना पट लगाने का प्रस्ताव भी पारित किया गया। गौर रहे कि धार्मिक आस्था की दृष्टि से रूकमणि कुंड की महत्व पौराणिक है, लेकिन कोरोना वायरस के कारण अब ऐहतियातन इसे बंद किया गया है।